देवरी-जमुआ में निकली सबसे लम्बी शिव बारात, 40 किलोमीटर की यात्रा करेगी तय

देवरी-जमुआ में निकला सबसे लंबा शिव बारात, 40 किलोमीटर की यात्रा करेगी तय
  •  
  •  
  •  
  •  
  • 87
  •  
  •  
    87
    Shares

धरा पर देवलोक का अहसास करा रहे थे देवी देवताओं का स्वरूप धारण किये लोग

जमुआ(गिरिडीह)। महाशिवरात्रि के मौके पर सोमवार को जमुआ और देवरी में सबसे लंबी शिव बारात निकाली गई। देवरी प्रखंड के देव पहाड़ी स्थित अति प्राचीन शिवालय में जगन्नाथ बाबा के नाम से भगवान शंकर विराजमान हैं। दोपहर दो बजे सभी अनुष्ठान पुरा करने के बाद मंदिर परिसर से विधिवत् तौर पर बारात निकाली गई। बारात की अगुवाई देव पहाड़ी मठ के मठाधीश गौरवानन्द महाराज व अखिल भारतीय साधु समाज के अध्यक्ष केशवानन्द जी महाराज कर थे। बारात में हजारों की संख्या में स्थानीय ग्रामीण बाराती बने हुए थे। शिव बरात में विभिन्न देवी देवताओं का रूप धरे कई युवक बारात की न सिर्फ शोभा बढ़ा रहे थे बल्कि धरा पर देवलोक होने का एहसास करा रहे थे।

इसे भी पढ़ें-पारसनाथ-गिरिडीह नई रेल लाईन परियोजना की रखी गई आघारशीला

कई स्थानों पर भक्तों ने शिव बारात का किया स्वागत

देवरी-जमुआ में निकला सबसे लंबा शिव बारात, 40 किलोमीटर की यात्रा करेगी तय

जमुआ की सीमा खरगडीहा पहुंचते ही बारात का भव्य स्वागत जमुआ वासियों ने किया। बारात का स्वागत मिर्जागंज-खरगडीहा गोशाला में भी किया गया। यहां गोशाला समिति के सचिव सुरंजन कुमार सिंह एवं उपाध्यक्ष राधेराम स्वर्णकार की अगुवाई में बारातियों को गुलाल लगाकर एंव मिठाई खिलाकर स्वागत किया गया। मिर्जागंज जलीय सूर्यमन्दिर में भी बारातियों का स्वागत किया गया। बारात मिर्जागंज, बदडीहा, लताकी, महतो टांड होते हुए देवरी की सीमा में प्रवेश कर गया। खबर लिखे जाने तक बारात विभिन्न क्षेत्रों का भर्मण कर रहा था। देव पहाड़ी शिवालय पहुंचने पर देर रात शिव- पार्वती विवाह सम्पन्न कराए जाने की सूचना है।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….