अधिकारियों की लापरवाही से आयकर विभाग को नुकसान : संयुक्त आयुक्त

अधिकारियों की लापरवाही से आयकर विभाग को नुकसान : संयुक्त आयुक्त
  •  
  •  
  •  
  •  
  • 9
  •  
  •  
    9
    Shares

गिरिडीह के अधिकारियों के साथ आयकर विभाग ने किया सेमिनार का आयोजन

गिरिडीह। सरकारी नुमाईदों में टीडीएस रिर्टन दाखिल की जानकारी नहीं रहने के कारण ही आयकर विभाग को बड़े पैमाने पर राजस्व का नुकसान उठाना पड़ रहा है। मंगलवार को समाहरणालय सभागार में आयकर विभाग के सेमिनार के दौरान यह बातें सामने आई। देवघर-धनबाद के संयुक्त आयुक्त प्रदीप विश्वास की अध्यक्षता में आयोजित सेमिनार में मौजूद गिरिडीह के अधिकारियों के बीच आयुक्त ने कहा कि टीडीएस रिर्टन दाखिल की जानकारी का अभाव अधिकारियों में सीधे तौर पर दिख रहा है। जिसके कारण ही टीडीएस के माध्यम से आयकर विभाग को जिस अनुपात में अधिकारियों से राजस्व मिलना चाहिए, वह नहीं मिल रहा है। आयुक्त विश्वास ने यह भी कहा कि अगर अधिकारियों में जानकारी रहती तो आयकर विभाग को इतना नुकसान नहीं उठाना पड़ता।

आयकर विभाग करेगा मॉनिटरिंग

अधिकारियों की लापरवाही से आयकर विभाग को नुकसान :  संयुक्त आयुक्त

ऐसे में रिटर्न दाखिल के लिए आयकर विभाग अब सही तरीके से माॅनिटरिंग करेगा। वैसे सेमिनार के दौरान आयुक्त ने यह भी कहा कि अधिकारियों में लापरवाही के कारण ऐसा हुआ है। अगर जानकारी नहीं थी, तो अधिकारी आयकर विभाग से सुझाव ले सकते थे। जिसे राजस्व का नुकसान नहीं उठाना पड़ता। इस बीच सेमिनार में आयुक्त ने फार्म-16 दिखाते हुए कहा कि इस फार्म के माध्यम से अधिकारियों को अपने वेतन का टीडीएस रिटर्न दाखिल करना है। इस फार्म से आयकर विभाग को सही तरीके से राजस्व मिलेगा। इस बीच सेमिनार में धनबाद के टीडीएस सर्किल के सहायक आयुक्त संदीप गांगुली के अलावे, धनबाद के टीडीएस आईटीओ जेजे अंसारी, गिरिडीह आईटीओ रंजन गर्ग समेत प्रशासनिक अधिकारियों में डीडीसी मुंकुद दास, जिला योजना पदाधिकारी देवेश गौतम, डीएमओ सूजीत नायक समेत कई पदाधिकारी मौजूद थे।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….