विद्या की देवी मां सरस्वती की पूजा कल, जाने पूजा की विधि व मंत्र

विद्या की देवी मां सरस्वती की पूजा कल, जाने पूजा विधि व मंत्र
  •  
  •  
  •  
  •  
  • 105
  •  
  •  
    105
    Shares

सीधी नज़र डेस्क : विद्या की देवी माँ सरस्वती की पूजा रविवार को धूमधाम से की जाएगी।  इसको लेकर जगह- जगह तैयारी की जा रही है।

ऐसे करें माँ सरस्वती की पूजा

प्रातः काल स्नानादि कर पीले वस्त्र को धारण करें। माँ सरस्वती की प्रतिमा के सामने कलश स्थापित कर भगवान गणेश और नवग्रह की विधिवत पूजा करें। फिर मां सरस्वती की पूजा करें। इसके बाद प्रतिमा या चित्र पर आचमन कर स्नान कराएं। फिर माता का श्रृंगार कराएं। सरस्वती मां का वस्त्र स्वेत है इसलिए उन्हें स्वेत वस्त्र चढ़ाएं। फिर स्वेत फूल माता को अर्पण करें। प्रसाद के रूप में खीर या मिठाईयां अर्पित करें। विद्यार्थी वर्ग कलम, पुस्तक, कॉपी की पूजा करें। वहीं संगीत से जुड़े लोग अपने साज पर तिलक लगा कर मां सरस्वती की आराधना करें।

इन मंत्रों को पढ़ माँ सरस्वती को करें प्रसन्न

या कुन्देन्दुतुषारहारधवला या शुभ्रवस्त्रावृता या वीणावरदण्डमण्डितकरा या श्वेतपद्मासना।

या ब्रह्माच्युतशंकरप्रभृतिभिर्देवैः सदा वन्दिता सा मां पातु सरस्वती भगवती निःशेषजाड्यापहा ॥

शुक्लां ब्रह्मविचार सार परमामाद्यां जगद्व्यापिनीं वीणापुस्तकधारिणीमभयदां।

जाड्यान्धकारापहाम्हस्ते स्फटिकमालिकां विदधतीं पद्मासने संस्थिताम्वन्दे तां परमेश्वरीं भगवतीं बुद्धिप्रदां शारदाम्।।

ॐ सरस्वती मया दृष्ट्वा, वीणा पुस्तक धारणीम। हंस वाहिनी समायुक्ता मां विद्या दान करोतु में ऊॅं।।

ॐ श्री सरस्वती शुक्लवर्णां सस्मितां सुमनोहराम्।।

कोटिचंद्रप्रभामुष्टपुष्टश्रीयुक्तविग्रहाम्। वह्निशुद्धां शुकाधानां वीणापुस्तकमधारिणीम्।।

रत्नसारेन्द्रनिर्माणनवभूषणभूषिताम्। सुपूजितां सुरगणैब्रह्मविष्णुशिवादिभि:।। वन्दे भक्तया वन्दिता च मुनीन्द्रमनुमानवै:।

शारदा शारदाभौम्वदना। वदनाम्बुजे। सर्वदा सर्वदास्माकमं सन्निधिमं सन्निधिमं क्रिया तू।’

मां सरस्वती की पूजा कल, जाने पूजा विधि व मंत्र

इस मंत्र को पढ़ छोटे बच्चों का कराए विद्यारंभ

सरस्वति नमस्तुभ्यं वरदे कामरूपिणि ।

विद्यारम्भं करिष्यामि सिद्धिर्भवतु मे सदा ॥

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….