अब बिना हेलमेट के नहीं मिलेगा पेट्रोल, देने पर पंप मालिकों पर कार्रवाई

अब बिना हेलमेट के नहीं मिलेगा पेट्रोल, देने पर पंप मालिकों पर कार्रवाई
  •  
  •  
  •  
  •  
  • 132
  •  
  •  
    132
    Shares

जिला प्रशासन का नो हेलमेट-नो फ्यूल कैम्पेन

गिरिडीह। बिना हेलमेट के सड़क दुर्घटना में लगातार हो रही मौत के बढ़ते आकड़ों को देखते हुए सड़क सुरक्षा के अधिकारियों ने नो हेलमेट- नो फ्यूल अभियान की शुरुवात कर दी है।

सड़क सुरक्षा को लेकर उठाया गया कदम

इस अभियान के तहत गिरिडीह जिले के 68 पेट्रोल पंपों पर नो हेलमेट -नो फ्यूल लिखा स्लोगन लगाया जाना है। तीन दिनों के अंदर 28 पेट्रोल पंपों में स्लोगन लिखा बैनर लगाया जा चुका है।

पदाधिकारियों ने चलाया जांच अभियान

बुधवार को सड़क सुरक्षा के अधिकारियों के द्वारा जिले में सघन जांच अभियान चलाया गया। जिसमें पेट्रोल पंपों के सीसीटीवी फुटेज की जांच की गयी। सड़क सुरक्षा के मैनेजर ने बताया कि पेट्रोल पंप के सीसीटीवी फुटेज को हमलोगों ने देखा तो पाया कि बहुत हद तक लोग हेलमेट पहन कर पेट्रोल लेने आ रहे हैं, लेकिन अभी इसमें बहुत सुधार की जरूरत है। लोगों को जागरूक करना होगा। पेट्रोल पंपों के मालिक को हिदायत दी गई कि बिना हेलमेट के पेट्रोल नहीं देना है। वार्निंग देकर पेट्रोल दें कि अगली बार से बिना हेलमेट के पेट्रोल नहीं मिलेगा। 7 दिनों तक लगातार यह जांच की जाएगी।

बिना हेलमेट पेट्रोल देने पर पंप संचालक पर कार्रवाई

 

अब बिना हेलमेट के नहीं मिलेगा पेट्रोल, देने पर पंप मालिकों पर कार्रवाई

बिना हेलमेट के जो भी पेट्रोल पंप में पेट्रोल दिया जाएगा उस पेट्रोल पंप के मालिक के ऊपर कार्रवाई की जाएगी और उसका लाइसेंस भी रद्द किया जा सकता है। इस पर पंप मालिकों की शिकायत है कि बिना हेलमेट के पेट्रोल नहीं देने पर स्थानीय लोग मारपीट करने लगते हैं एवं सैकड़ों की संख्या में जुट कर जोर जबरदस्ती करने लगते हैं। इससे सुरक्षा के लिए हमलोगों को पुलिस बल उपलब्ध कराया जाए।

परिवहन विभाग करेगा कार्रवाई

सड़क सुरक्षा के मैनेजर नितेश कुमार सिंह ने कहा कि इस तरह के लोगों का सीसीटीवी वीडियो क्लिप दीजिए, वैसे लोगों पर डीटीओ कार्रवाई करेंगे। जो भी हमारे कार्यक्रम में विध्न डालने का प्रयास करेगा उनकी गाड़ियों को लॉक कर दिया जाएगा।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….