मृत खदान मजदूर के परिजनों से पुलिस ने लिए पैसे, मुकदमे का भय दिखाकर ऐंठे 40 हजार

मृत खदान मजदूर के परिजनों से पुलिस ने लिए पैसे, मुकदमे का भय दिखाकर ऐंठे 40 हजार
  •  
  •  
  •  
  •  
  • 5
  •  
  •  
    5
    Shares

मृतका के परिजनों ने पुलिस पर लगाया आरोप, ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त

रिपोर्ट- रंजन कुमार 

तिसरी (गिरिडीह)। तिसरी थानाक्षेत्र अंतर्गत गोलगो के सिधवा टोला निवासी महिला मजदूर धनेश्वरी देवी की ढिबरा खदान में दबकर मौत हो जाने के बाद पुलिस द्वारा मामले को रफा दफा करने के नाम पर परिजनों से पैसे लिए जाने का मामला प्रकाश में आया है। मामले को लेकर मृतका के परिजनों और गावं के लोगों में काफी आक्रोश है। इस संबंध में मृतका की बेटी चिंता देवी, बहु मुस्कान देवी व ग्रामीण कारू तुरी ने गावं के ही जमाल मियां पर पुलिस को देने के लिए पैसे लेने का आरोप लगाया है। इन सभी ने कहा की मुकदमा हो जाने के डर से परिजनों ने पैसे दे दिए।

क्या है पूरा मामला

मृत खदान मजदूर के परिजनों से पुलिस ने लिए पैसे, मुकदमे का भय दिखाकर ऐंठे 40 हजार

बताया जाता है की बेलवाना पंचायत के छपरवा में सोमवार की देर शाम ढिबरा खदान की मिट्टी धंस जाने से धनेश्वरी देवी की मौत दबकर हो गयी थी। मजदूर की मौत की सूचना मिलने पर मंगलवार की सुबह तिसरी पुलिस छानबीन करने मृतका के घर पहुंची। वहीं मौके पर मौजूद गोलगो निवासी जमाल मियां ने पहले मृतका के परिजनों को केस में फंस जाने का डर दिखाया और बाद में मामले को रफा दफा करने के लिए पुलिस को पैसे देने की बात कह चालीस हजार रुपये ऐंठ लिए।

तिसरी के कई क्षेत्रों में संचालित है ढिबरा खदान

मृत खदान मजदूर के परिजनों से पुलिस ने लिए पैसे, मुकदमे का भय दिखाकर ऐंठे 40 हजार

गौरतलब है की तिसरी प्रखंड के मैनी, कठकोको, रंगमटिया, मंसाडीह, सतभुरकवा,  गोलगो, हीरा पहरी, कारू नाला पहाड़ी आदि क्षेत्रों के वन सीमा क्षेत्र में दर्जनाधिक ढिबरा खदान संचालित हैं। इन खदानों से स्थानीय लोग अवैध रूप से ढिबरा का खनन करते हैं। स्थानीय मजदूर इन व्यवसाइयों के पास खदान से ढिबरा चुनने का काम करते हैं। इसी क्रम में धनेश्वरी देवी भी ढिबरा चुनने गई थी और दब कर मर गयी थी।

मामले की जाँच की जाएगी : थाना प्रभारी

तिसरी थाना प्रभारी अनुराग प्रसाद ने कहा कि पुलिस के पहुँचाने से पहले ही मृतका के परिजन शव को दाह संस्कार के लिये श्मशान ले जा चुके थे। मृतक के परिवार से पुलिस के नाम पर कौन पैसा लिया इसकी जांच की जाएगी। इधर जमाल मियां ने भी मृतका के परिजनों से पैसे लेने से इंकार किया है।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….