सीएम के कार्यक्रम में दुपट्टा उतरवाना शर्मनाक, तूल पकड़ने लगा है मामला

सीएम के कार्यक्रम में दुपट्टा उतरवाना शर्मनाक, तूल पकड़ने लगा है मामला
  •  
  • 475
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    475
    Shares

जमुआ (गिरिडीह)। गिरिडीह के झंडा मैदान में रविवार को आयोजित सीएम के कार्यक्रम में महिलाओं के शॉल और युवतियों के काले दुपट्टे जब्त कर लिए जाने पर विभिन्न राजनीतिक दलों और महिला संगठनों ने कड़ा एतराज जताते हुए अपनी तीखी प्रतिक्रिया दी है।

कन्याओं के अपमान के लिए सीएम जिम्मेवार

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की सदस्य सह जमुआ विधानसभा प्रभारी डॉ मंजु कुमारी ने प्रशासन के इस कदम का कड़ा विरोध किया है। इस बाबत कांग्रेस नेत्री ने एक बयान जारी कर कहा है कि आखिर सीएम को किस बात का डर सता रहा है। कहीं पारा शिक्षकों के काले झंडे का भूत अब तक उनके सिर पर सवार तो नहीं है। बेटियों की शान में कसीदे पढ़ने वाले सीएम के सामने बेटियों का अपमान किया गया, लेकिन उनके चेहरे पर शिकन तक नहीं आयी। जाहिर है सीएम सुकन्या का मर्म ही नहीं समझते हैं। कांग्रेस नेत्री ने कहा कि प्रशासन ने गिरिडीह के झंडा मैदान में खुले तौर पर महिलाओं के साथ अभद्र आचरण किया है, जिसकी जितनी भी निंदा की जाय कम होगा। उन्होंने इस पूरे घटनाक्रम की उच्चस्तरीय जांच कराने की मांग की है।

राष्ट्रीय स्तर पर होगा प्रतिरोध

इधर अखिल भारतीय प्रगतिशील महिला एसोसिएशन की मीना दास ने कहा कि भाजपा के शासन काल में महिलाओं का शोषण-उत्पीड़न का ग्राफ तेजी से बढ़ा है। गिरिडीह की घटना शर्मनाक है। सीएम की सुरक्षा के नाम पर प्रशासन का यह रवैया तानाशाही है। कहा कि पूरा प्रशासनिक अमला के साथ-साथ सीएम भी इस महिला विरोधी आचरण के जिम्मेदार हैं। अखिल भारतीय प्रगतिशील महिला एसोसिएशन इस मामले को आंदोलन का मुद्दा बनाकर राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिवाद करेगी।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….