धूमधाम से मनायी गई कर्पूरी ठाकुर की जयंती, निकाली रैली

धूमधाम से मनायी गई कर्पूरी ठाकुर की जयंती, निकाली रैली
  • 81
    Shares

बाघमारा विधायक सहित कई नेताओं ने की शिरकत

गिरिडीह। जननायक सह बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुर की जयंती गुरुवार को धूमधाम से मनायी गई। समारोह की शुरुआत पपरवाटांड़ में कर्पूरी चौक के उद्घाटन से की गई। गिरिडीह उच्च विद्यालय मैदान में सभा से पूर्व शहरी क्षेत्र में जिला नाई समाज के तत्वावधान में रैली निकाली गई। उच्च विद्यालय से निकाली गई रैली शहर के विभिन्न मार्गों से होते हुए पुनः सभा स्थल पहुंची। उच्च विद्यालय मैदान पर जननायक की तस्वीर पर अतिथियों द्वारा माल्यार्पण कर समारोह की विधिवत् शुरुआत की गई। समारोह में जिले भर से बड़ी संख्या में समाज के लोगों का जुटान हुआ। वक्ताओं ने मौके पर जननायक को भारत रत्न देने की मांग करते हुए कहा कि सरकारी उपेक्षा के कारण जननायक को वह सम्मान नहीं मिल पाया जिसके वह हकदार थे।

जहां पत्थर बरसे थे वहीं बरसेंगे फूल: ढुल्लू महतो

धूमधाम से मनायी गई कर्पूरी ठाकुर की जयंती, निकाली रैली

समारोह के मुख्य अतिथि बाघमारा विधायक ढुल्लू महतो ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि जननायक पर जहां पत्थर बरसाए गए थे वहीं उनकी प्रतिमा पर भविष्य में फूल बरसाए जाएंगे। उन्होंने समर्थकों को आश्वस्त किया कि पपरवाटाड़ चौक पर स्थापित की जाने वाली प्रतिमा एक माह के अंदर सौंपी जाएगी। कहा कि राजनीति में जननायक ने जो लंबी लकीर खींची, उससे लंबी लकीर आज। तक नहीं खींची गई। उनकी सादगी व सरलता के सभी कायल है।

कहा कि परिस्थिति बदल रही है। सांमतवादी ताकतों के खिलाफ अब शोषित वर्ग भी संघर्ष करने को तैयार खड़ी है। कहा कि पांव दबाने वाला हाथ अब शोषितों के गर्दन तक भी पहुंच रही है। समाज में गलत भावना की सोच रखने वाले अब सावधान हो जाये। महतो ने कहा कि समान सोच रखने वाले को मत देकर मजबूत बनाएं। लड़ने में सक्षम होंगे तभी आगे बढेंगे। जो जिस भाषा में समझें उन्हें उसी भाषा में समझाना होगा, तभी समाज आगे बढ़ेगा।

राजनीति बन गई है उद्योग : गौतम सागर

जननायक के हमसफर रहे पूर्व मंत्री सह राजद के राष्ट्रीय महासचिव गौतम सागर राणा ने कहा कि हालिया दिनों में राजनीति उद्योग बन गई है। समाज में विषमता इतनी बढ़ी है कि चार लोगों का परिवार चार लाख स्क्वायर फीट के भव्य अटालिका में निवास करते हैं। कहा कि दुर्भाग्य है कि वैसे लोग प्रधानमंत्री के करीबी हैं। राणा ने कहा कि जननायक सिर्फ नाई समाज के नहीं बल्कि राष्ट्र के धरोहर थे। उन्होंने कहा कि आजीवन बेदाग छवि के रहे जननायक के पास पैतृक संपत्ति के सिवा कुछ नहीं था। कहा कि आज के राजनेता देश व समाज की बजाय पीढ़ियां संवारने में लगे रहते हैं। राणा ने कहा कि छात्र आंदोलन के दौरान हजारीबाग जेल में बिताए क्षण जीवन के लिए अनमोल हैं।

 हर युग में ताकत को मिला है सम्मान: महापौर

नगर निगम के महापौर सुनील कुमार पासवान ने कहा कि हर युग में ताकत को सम्मान मिला है। उन्होंने मौजूद लोगों से एकजुट होकर संघर्ष करने का आह्वान किया। पासवान ने कहा कि उनकी सादगी ऐसी कि मुख्यमंत्री रहते जननायक के पिता यजमानी करते थे। आज ऐसे उदाहरण कहां मिलते है। कहा कि ऋण चुकाने का मौका आया है, बोर्ड की अगली बैठक में प्रस्ताव पारित कर पपरवाटांड़ में ठाकुर की आदमकद प्रतिमा स्थापित की जाएगी। पासवान ने आह्वान किया कि हक चाहते हैं तो लड़ना सीखे, जीना है तो मरना सीखे।

कार्यक्रम की अध्यक्षता नाई समाज के जिलाध्यक्ष नंदलाल शर्मा तथा मंच संचालन अनिल शर्मा ने किया। कार्यक्रम में नाई समाज की महिला प्रदेश अध्यक्ष हीरा देवी, कृष्ण मुरारी शर्मा, साठु ठाकुर, मुखिया संघ के जिलाध्यक्ष देवनाथ राणा सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुकपेज से….