कामरेड महेंद्र सिंह के शहादत पर लाल झंडे से पटा बगोदर, संकल्प सभा का आयोजन

कामरेड महेंद्र सिंह के शहादत पर लाल झंडे से पटा बगोदर, संकल्प सभा का आयोजन
  •  
  •  
  •  
  •  
  • 210
  •  
  •  
    210
    Shares

अपने नेता को श्रद्धांजलि देने उमड़ी की भीड़

कामरेड महेंद्र सिंह के शहादत पर लाल झंडे से पटा बगोदर, संकल्प सभा का आयोजन

शहादत दिवस के बहाने माले ने केन्द्र सरकार पर जमकर साधा निशाना

बगोदर (गिरिडीह)। जननायक और मजदूरों के मसीहा माने जाने वाले भाकपा माले नेता सह बगोदर के पूर्व विधायक महेंद्र सिंह का 15वां शहादत दिवस बगोदर में संकल्प सभा के रूप में मनाया गया, जिसमें सैंकड़ों की संख्या में कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया और अपने नेता को श्रद्धांजलि दी। संकल्प सभा को लेकर एक ओर जहां बगोदर लाल झंडे से पटा हुआ था। वहीं गिरिडीह के अलावा सरिया, बिरनी, जमुआ, गावां, तिसरी सहित अन्य प्रखंडों से सैंकड़ों की संख्या में माले कार्यकर्ता लाल झंडे के साथ जुलूस के रूप में बगोदर पहुंचे। संकल्प सभा से पूर्व पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव दीपांकर भट्टाचार्य, जिला सचिव मनोज भक्त, विधायक राजकुमार यादव, पूर्व विधायक बिनोद सिंह, राजेश यादव, परमेश्वर महतो, राजेश सिन्हा, मन्नोवर हसन बंटी सहित अन्य पार्टी नेता व कार्यकर्ता पहले खम्भरा स्थित शहीद महेन्द्र सिंह के पैतृक आवास पहुंचे और शहीद महेन्द्र सिंह की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित की। वहीं बगोदर स्थित पार्टी कार्यालय सह किसान भवन में भी शहीद महेन्द्र सिंह को श्रद्धां सुमन  अर्पित कर कार्यक्रम की शुरूआत की गई।

मोदी सरकार ने किया संविधान के साथ खिलवाड़ : दीपांकर

संकल्प सभा को संबोधित करते हुए पार्टी नेताओं ने मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला और उसे किसान व गरीब विरोधी सरकार बताया। पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव दीपांकर भट्टाचार्य ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार न सिर्फ हर मोर्चे पर विफल रही है। बल्कि संविधान के साथ भी खिलवाड़ किया है। डॉ अम्बेदकर ने संविधान में गरीब व अल्पसंख्यकों के आरक्षण के लिए जो नियमावली बनाई है,  उसके साथ खुलेआम खिलवाड़ किया जा रहा है। कहा कि देश में गरीबी और बेरोजगारी चरम सीमा पर है और सरकार इस मुद्दे पर पर्दा डालने का प्रयास कर रही है। जबकि माले ने इस मुद्दे को लेकर सड़क से लेकर सदन तक आंदोलन किया है और आगे भी ये आंदोलन जारी रहेगा।

पांच सालों में विकास के नाम पर जनता को थमाया झुनझुना : विनोद

कामरेड महेंद्र सिंह के शहादत पर लाल झंडे से पटा बगोदर, संकल्प सभा का आयोजन

बगोदर के पूर्व विधायक विनोद सिंह ने कहा कि मोदी सरकार ने पांच साल पूर्व विकास के नाम पर जो स्लोगन दिया था वह सिर्फ झुनझुना साबित हुआ है, जो खासकर किसानों और गरीब नौजवानों के लिए कड़वाहट के अलावे कुछ नहीं साबित हुआ। कहा कि एक देश व एक कानून की बात करने वाले मोदी व रघुवर सरकार ने देश को बांटने का काम किया है। किसानों को क्षेत्रवाद के आधार पर बांट कर रख दिया है। सरकार किसानों की जमीन की रसीद नहीं काटकर उसे उद्योगपति घरानों को देने का काम कर रही है। इस दौरान उन्होंने अफगानिस्तान से सात मजदूरों के गायब होने व जिले में स्कूलों के समायोजन के साथ बंद हो रहे स्कूलों के सवाल पर भी रघुवर सरकार पर जमकर निशाना साधा।

गरीबों के साथ हमेशा खड़ी रहती है माले : राजकुमार

सभा को संबोधित करते हुए धनवार विधायक राजकुमार यादव ने कहा कि एक तरफ समान कार्य को लेकर पारा शिक्षकों को समान वेतन सरकार नहीं दे पा रही है। वहीं सांसद, विधायकों के वेतन बढ़ाने के लिए सरकार के पास खजाना भरा पड़ा है। उन्होंने यह भी कहा कि चाहे दिन हो या रात भाकपा माले हर समय गरीबों के साथ खड़ी रहती है।

कोडरमा वामदल का सबसे मजबूत क्षेत्र

निरसा विधायक अरूप चटर्जी ने केन्द्र व राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि शहीद महेन्द्र सिंह गरीब और मजदूरों के नेता थे। उन्होंने गरीबों के हक और अधिकार के लिए सड़क से लेकर सदन तक आवाज उठाई थी। यही वजह है कि उनकी जमीन पर आज भी चारों ओर लाल लहर साफ दिखाई देती है। इस दौरान उन्होंने कोडरमा लोकसभा क्षेत्र को देश में वामदलों के लिए सबसे मजबूत क्षेत्र बताया। सभा को जिला सचिव मनोज भक्त, राजेश यादव, परमेश्वर महतो, राजेश सिन्हा, मनोव्वर हसन बंटी सहित अन्य नेताओं ने भी संबोधित किया।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….