नक्सलियों ने फिर खेली खून की होली, पुलिस मुखबिर बोलकर कर दी दो लोगों की हत्या

नक्सलियों ने फिर खेली खून की होली, पुलिस मुखबिर बोलकर कर दी दो लोगों की हत्या
  • 28
    Shares

देवरी(गिरिडीह)। जमुई जिले के चकाई थाना क्षेत्र के गुरूरबाद गांव में नक्सलियों ने पुलिस मुखबिरी के संदेह में मंगलवार देर रात दो ग्रामीणों की गोली मारकर हत्या कर दी। इस हमले में एक महिला के घायल होने की भी सूचना है। बताया जाता है कि नक्सली कमांडर सिद्धू कोड़ा और पिंटू राणा के दस्ते के द्वारा घटना को अंजाम दिया गया है।

घटना स्थल पर पर्चा छोड़ कर दी चेतावनी

बताया गया कि नक्सलियों ने दोनों ग्रामीणों को घर से निकलकर पुलिस मुखबिरी करने का आरोप लगाते हुए पहले मारपीट की। जिसके बाद उन्हें गोली मार दी। मृतकों की पहचान 40 वर्षीय मोहम्मद उस्मान अंसारी और 38 वर्षीय मोहम्मद गुलाम के रूप में की गयी है।

घटना को अंजाम देने के बाद नक्सलियों ने घटनास्थल पर पर्चे भी छोड़े हैं। पर्चे में नक्सलियों ने लिखा है कि ‘पुलिस के लिए मुखबिरी करने का यही अंजाम होता है’। घटना के बाद पूरे इलाके में सनसनी फैल गयी है और पूरे क्षेत्र में दहशत का माहौल है। लोग डर डर के मारे कुछ भी बोलने से परहेज कर रहे हैं।

पुलिस ने भी की पुष्टि

नक्सलियों ने फिर खेली खून की होली, पुलिस मुखबिर बोलकर कर दी दो लोगों की हत्या

घटना के संबंध में चकाई थाना प्रभारी चंदेश्वर पासवान ने बताया कि मंगलवार की देर रात करीब हथियारबंद माओवादियों के दस्ते ने घर में घुस कर बरमोरिया पंचायत के ग्राम कचहरी सचिव मोहम्मद उस्मान और उनके पड़ोसी मोहम्मद गुलाम की गोली मारकर हत्या कर दी है। इस हमले में उस्मान की पत्नी सबरीन खातून को हाथ में गोली लगी है। जिन्हें चकाई रेफरल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मौके से मिले पर्चे के आधार पर स्थानीय पुलिस सूत्रों ने बताया कि यह हथियारबंद दस्ता प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी का मालूम पड़ता है।

ग्रामीणों में भय व आक्रोश

घटना के बाद पुलिस प्रशासन के देर से पहुंचने पर स्थानीय ग्रामीणों में नाराज़गी थी। इस बात को लेकर ग्रामीणों ने पुलिस के विरोध में अपना आक्रोश भी जाहिर किया। हालांकि पुलिस व सीआरपीएफ की टीम मौके पर पहुंचकर पूरे मामले की जांच पड़ताल में जुटी हुई है।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….