आंदोलन के लिए मजबूर न करे सरकार, आईएमए का अल्टीमेटम
गिरिडीह झारखंड

आंदोलन के लिए मजबूर न करे सरकार, आईएमए का अल्टीमेटम

  • 30
    Shares

फेयर एण्ड फ्री माहौल नहीं रहा तो कैसे करेंगे काम : डॉ विद्या भूषण

गिरिडीह। आईएमए ने कहा कि सरकार आंदोलन के लिए मजबूर न करें अन्यथा चिकित्सक जिद पर आ गए तो राज्य में विकट स्थिति उत्पन्न हो जाएगी। शनिवार को स्थानीय होटल में आईएमए के अध्यक्ष डॉ विद्याभूषण, सचिव डाॅ बीएमपी राय व आईएमए महिला विंग की अध्यक्ष डॉ अमिता राय ने प्रेसवार्ता कर सीधे तौर पर सरकार को चेतावनी दी है। पत्रकारों से बात करते हुए डाॅ भूषण ने कहा कि असुरक्षा की भावना के बीच चिकित्सकों द्वारा काम करना संभव नहीं है। फेयर व फ्री माहौल नहीं रहा तो छोटी सी घटना में भी बड़ी समस्या खड़ी हो जाएगी। कहा कि मेडिकल प्रोटेक्शन एक्ट देश के अठारह राज्यों में लागू है, लेकिन झारखंड सरकार चिकित्सा मामले में गंभीर नहीं हैं।

कानून में संशोधन कर काम का माहौल बनाये सरकार

उन्होंने कहा कि कानून में संशोधन कर राज्य में काम का माहौल बनाया जाये तभी बेहतर ढंग से काम हो पायेगा। आईएमए अध्यक्ष ने कहा कि राज्यपाल से गुजारिश की गई हैं कि राज्य सरकार पर कानून लागू करने का दबाव बनाया जाये। कहा कि सरकार आईएमसी की जगह एनएमसी बना रही हैं, इसके सदस्य नन-मेडिकल लोग बनाए जाएंगे। कहा कि नन-मेडिकल लोग नीति कैसे बनाएंगे। स्वास्थ्य सेवा के लिए सरकार की बनायी जा रही नीति हितकर नहीं होगी। डॉ भूषण ने कहा कि मेडिकल प्रोटेक्शन एक्ट में सरकार पुनः संशोधन चाह रही है, कहा ऐसा हो कि चिकित्सक निर्भय होकर सेवा दें पाए।

झारखंड में संकट के दौर से गुजर रही है चिकित्सा सेवा- डॉ राय

प्रेसवार्ता के दोरान आईएमए के सचिव  डॉ राय ने कहा कि चिकित्सा सेवा राज्य में संकट के दौर से गुजर रही है। कहा कि इलाज के दौरान कुछ अनहोनी हुई तो इसके जिम्मेवार चिकित्सक ठहराए जाते हैं, यही कारण है कि हालिया दिनों में छोटी बीमारियों में भी चिकित्सकों में रेफर करने की प्रवृति बढ़ी हैं। पत्रकारों से बातचीत के बाद तीन सदस्यीय शिष्टमंडल द्वारा राज्यपाल के नाम डीसी को ज्ञापन सौंपा गया। बताया गया कि ज्ञापन की काॅपी प्रधानमंत्री कार्यालय को भी भेजी गई है। ज्ञापन के माध्यम से राज्यपाल व पीएम कार्यालय से जायज मांगें मानने की गुहार लगायी गई है। डॉ राय ने कहा कि मेडिकल क्षेत्र में नया प्रयोग देश व राज्य के लिए घातक साबित होगा।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….

3 Replies to “आंदोलन के लिए मजबूर न करे सरकार, आईएमए का अल्टीमेटम

Leave a Reply

Your email address will not be published.