तिसरी : पहाड़ी से बड़े पैमाने पर हो रहा है बैरल पत्थर का अवैध उत्खनन
झारखंड तीसरी

तिसरी : पहाड़ी से बड़े पैमाने पर हो रहा है बैरल पत्थर का अवैध उत्खनन

  • 35
    Shares

डीएफओ ने किया पहाड़ी का निरीक्षण, दिया कार्रवाई का निर्देश 

तिसरी(गिरिडीह)| वन विभाग की टीम व लोकाय पुलिस पूर्वी वन प्रमंडल पदाधिकारी राजकुमार साहा के नेतृत्व में डुब्बा के असनातरी जंगल के पहाड़ी में बेशकीमती बैरल पत्थर उत्खनन का निरक्षण किया गया। इस दौरान उक्त पहाड़ी पर दर्जनों अवैध खदान व खंता मिला। जहां पर कुछ खंता में कई महिला व बच्चे ढिबरा को निकाल रहे थे तो कुछ मिट्टी व पत्थर से ढिबरा चुन रही थी। महिला के साथ छोटे-छोटे बच्चे को साथ में इस काम के भागीदारी बनाने पर डीएफओ ने फटकार लगाया। हालांकि निरीक्षण के दौरान उक्त स्थल से कीमती बैरल पत्थर नहीं मिला। लेकिन सेंपल के रूप में कुछ पत्थर का टुकड़ा लिया गया। पांच दिन पहले लोकाय पुलिस द्वारा उक्त स्थल में जेसीबी से खंता को बंद कराया गया था। लेकिन देखने से यह साफ पता चल रहा था कि खंता बंद करने के नाम पर सिर्फ खानापुर्ति की गई थी।

निरीक्षण के दौरान ढिबरा चुनती मिली महिलायें

जानकारी के अनुसार लिखित शिकायत मिलने के बाद वन विभाग के डीएफओ  दर्जनों वनरक्षी व पुलिस के साथ पुरे पहाड़ी का मुआयना किया। निरीक्षण के दौरान पहाड़ी के पूर्वी दिशा में कई बड़े-बड़े और गहरे खंता देखकर सभी अधिकारी दंग रह गए। जबकि दर्जनों की संख्या में छोटे छोटे खंता देखने को मिला। जिसे देखकर साफ पता चल रहा था कि वह काफी पुराना खंता है। जिससे पत्थर व ढिबरा निकालने की कोशिश जारी थी। निरीक्षण कर वापस लौटने के दौरान चार स्थान पर व्यापारी द्वारा खरीदे गये ढिबरा को जप्त किया गया। वहीं निरीक्षण के दौरान ढिबरा निकाल रही महिलाओं ने पुछताछ करने पर बताया कि व्यवसायी पंद्रह से पच्चीस रूपये किलो के भाव में खरीद कर यहीं से ले जाते है।

तिसरी : पहाड़ी से बड़े पैमाने पर हो रहा है बैरल पत्थर का अवैध उत्खनन

अवैध उत्खनन करने वालों के खिलाफ होगी कारवाई

डीएफओ श्री साहा ने बताया कि निरीक्षण के दौरान अवैध उत्खनन की बात सत्य पाई गई है। लेकिन बैरल पत्थर से अधिक ढिबरा की उत्खनन हो रही है। उन्होंने रेंजर शंकर पासवान व अधिनस्त अधिकारियों को उक्त स्थल में उत्खनन कर रहे व ढिबरा खरीददार पर वन अधिनियम के तहत केस करने का निर्देश दिया। कहा कि पत्थर उत्खनन को रोकने का हर संभव प्रयास किया जाये। इससे सबंधित लोगांे पर भी प्राथमिकी दर्ज होगी। ढिबरा खरीदार के रूप में सुनील यादव का नाम सामने आया है। वहीं रेंजर शंकर पासवान ने बताया कि पत्थर उत्खनन के आरोप में सरजू सिंह सहित तेरह लोगो पर पूर्व में केस किया जा चुका है।

ग्रामीणों ने डीएफओ से की थी शिकायत

ग्रामीणों ने डीएफओ को बताया कि बैरल पत्थर बीस से पचास हजार रूपये किलो जयपुर व तिलैया से लोग आकर खरीदकर ले जाते है। रात में पत्थर की उत्खनन की जाती है और सूर्यास्त के पहले पत्थर माफिया उत्खनन बंद कर देते है। निरीक्षण के दौरान वन विभाग के अधिकारियों के साथ लोकाय के एसआइ एसके सिंह, एस शर्मा सहित कई जवान शामिल थे।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….

7 Replies to “तिसरी : पहाड़ी से बड़े पैमाने पर हो रहा है बैरल पत्थर का अवैध उत्खनन

  1. Buying Doxycycline Online Uk Safe Euroclinix Generico Caniadan Online Pharmacy Buy Cialis Buy Levitra 20mg Online Amoxicillin Resistance Children Tonsillar Progesterone Purchasing Discount Cash On Delivery

Leave a Reply

Your email address will not be published.