उद्घाटन का बाट जोह रहा बिरनी का मॉडल कॉलेज, जनता मांग रही जवाब

उद्घाटन का बाट जोह रहा बिरनी का मॉडल कॉलेज, जनता मांग रही जवाब
  • 5
    Shares

बिरनी(गिरिडीह)। बिरनी प्रखण्ड में बना मॉडल कॉलेज उद्घाटन की बाट जोह रहा है। करोड़ों की लागत से बना कॉलेज का भवन रखरखाव की अभाव में गंदगी के ढेर में तब्दील होता जा रहा है मगर इस ओर किसी का कोई ध्यान नही है। इस बात को लेकर स्थानीय लोगों में आक्रोश पनपने लगा है और लोग इस बात का जवाब स्थानीय सांसद एवं विधायक से मांग रहे हैं। लोगों की माने तो कॉलेज का उद्घाटन नहीं होना कोडरमा सांसद डॉ रविन्द्र राय एवं विधायक नागेंद्र महतो की उदासीनता का परिणाम है।

स्थानीय लोगों ने जनप्रतिनिधियों  से सवाल करते हुए कहा कि एक तरफ सांसद और विधायक समेत अन्य लोग विकास का डंका बजाते फिरते हैं, वहीं चार साल से कॉलेज भवन बनकर तैयार होने के बाद भी कॉलेज का उद्घाटन नही होना सांसद एवं विधायक की असफलता का संकेत है। कहा कि चार साल से रख रखाव और मेंटेनेंस के आभाव में जहाँ भवन बदहाल स्थित में पहुंच गया है, वहीं छात्र छात्राओं ने जो सपना देखा था वह टूटकर बिखरने लगे हैं।

2014 में रखी गयी थी आधारशिला

उद्घाटन का बाट जोह रहा बिरनी का मॉडल कॉलेज, जनता मांग रही जवाब

बिरनी प्रखण्ड मुख्यालय के समीप मॉडल कॉलेज भवन निर्माण कार्य की आधारशिला चार वर्ष पूर्व 17 अप्रैल 2014 को खूब ताम झाम के साथ रखा गया था। शिलान्यास कार्यक्रम में विनोबा भावे विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो डॉ गुरदीप सिंह, कोडरमा सांसद डॉ रविन्द्र कुमार राय, बगोदर विधायक बिनोद कुमार सिंह, जिला के तत्कालीन उपायुक्त दीप प्रभा लकड़ा आदि मुख्य रूप से शरीक थे।

शिलान्यास के समय सभी ने बिरनी प्रखण्ड के छात्र छात्राओं के लिए सौगात देने की बात कहते हुए भवन निर्माण कार्य पूर्ण होने के बाद ही कॉलेज में पठन पाठन कार्य आरंभ हो जाने की बात कही थी। मॉडल कॉलेज के निर्माण से बच्चों में भी काफी उत्साह था और एक नई आस जगी थी, मगर चार साल बीत जाने के बाद भी कॉलेज का आरंभ नही होना सपनो पर पानी फिरने जैसा साबित होने लगा।

संवेदक पर हैंडओवर नहीं करने का लगा आरोप

इस संबंध में विधायक प्रतिनिधि लक्ष्मण दास ने बताया कि भवन निर्माण कार्य पूर्ण कर लिए जाने के बाद भी संवेदक द्वारा विश्वविद्यालय को इसका रिपोर्ट प्रस्तुत नही किया गया है और ना ही बिल्डिंग विभाग के हैंडओवर किया गया है। जिसकारण यहाँ कॉलेज का उद्घाटन नही हो पाया है। उन्होंने संवेदक पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए भवन निर्माण कार्य मे भी गुणवत्ता के साथ खिलवाड़ करने का आरोप लगाया है।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….