फर्जी तरीके से हुए सहिया चयन मामले की जाँच के लिए पहुँची टीम
झारखंड धनवार

फर्जी तरीके से हुए सहिया चयन मामले की जाँच के लिए पहुँची टीम

ग्रामीणों से की आमसभा होने के बाबत पूछताछ

राजधनवार (गिरिडीह)। जमुआ प्रखण्ड के पालमो पंचायत अंतर्गत भूचरोबाद ग्राम में सहिया पद में चयन में गड़बड़ी मामले में उपायुक्त के आदेश के बाद चिकित्सा पदाधिकारी जमुआ द्वारा चयनित पांच सदस्यी टीम सोमवार को जाँच के लिए पहुंचे। जाँच के दौरान पहुँची टीम में सदस्य बिटीटी राखी देवी, एमपीडब्लू विकास कुमार, एएनएम किरण माला सिन्हा तथा बिटीटी मो. कुसुद ने उपस्थित ग्रामीणों से आम सभा होने की जानकारी ली। लेकिन ग्रामीणों ने बिना आम सभा के ही चयन की बात कही। वहीं शिकायतकर्ता मनोज यादव, नन्दकिशोर यादव तथा उप मुखिया सुनैना देवी ने कहा कि गाँव में सहिया चयन को लेकर किसी प्रकार की आमसभा नही की गई और फर्जी हस्ताक्षर कर मुखिया नन्दकिशोर रजक की अध्यक्षता में सहिया का चयन कर लिया गया।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

फर्जी तरीके से हुआ था सहिया का चयन

विदित हो कि वर्ष 2019 में बगैर बैठक किए फर्जी हस्ताक्षर कर सहिया पद पर मधु देवी पति जितेंद्र कुमार राय का चयन किया गया था। जिसका विरोध करते हुए भूचरोबाद के स्थानीय निवासी सुनैना देवी पति नन्दकिशोर यादव ने मनोज यादव पिता सहदेव यादव, रामजी यादव पिता स्व0 छतर यादव, सुरेंद्र वर्मा पिता बालेश्वर वर्मा, नन्दकिशोर यादव पिता लालमोहन यादव, सहित कई लोगों के फर्जी हस्ताक्षर कर बैठक को दर्शाते हुए सहिया का चयन कर लिया गया था। जिसको लेकर स्थानीय ग्रामीणों के हस्ताक्षर युक्त आवेदन देकर उपायुक्त से जाँच कराने की मांग की गई थी। जिस पर पहल करते हुए उपायुक्त ने चिकित्सा प्रभारी से जाँच कराने का निर्देश दिया था।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….