अग्र परियोजना केन्द्र में हुआ किसानों का प्रमंडलीय कार्यशाला का आयोजन
गिरिडीह झारखंड टॉप-न्यूज़

अग्र परियोजना केन्द्र में हुआ किसानों का प्रमंडलीय कार्यशाला का आयोजन

उन्नत किस्म के रेशम का उत्पादन होना झारखंड के लिए शुभसंकेतः डीसी
गिरिडीह। जिले के बेंगाबाद में संचालित अग्र परियोजना केन्द्र में शुक्रवार को किसानों के बीच प्रमंडलीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। अग्र परियोजना केन्द्र में हुए कार्यशाला का उद्घाटन डीसी राहुल सिन्हा और सहायक रेशम उद्योग निदेशक ने दीप जलाकर किया। कार्यशाला में किसानों द्वारा रेशम उद्योग के स्टाॅल भी लगाएं गए थे।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

इस दौरान कार्यशाला को संबोधित करते हुए डीसी राहुल सिन्हा ने किसानों के प्रमंडलीय कार्यशाला को गौरव का विषय बताते हुए कहा कि एक साथ रेशम उद्योग परियोजना के पदाधिकारियों का जुटान गिरिडीह में हुआ है। जहां रेशम के उन्नत खेती की जानकारी दिया जाना है। डीसी ने राज्य में पैदा होने वाले रेशम को झांरखड के लिए गर्व का विषय बताते हुए कहा कि इस राज्य में सबसे बेहतर रेशम का पैदावार होता है। क्योंकि रेशम उद्योग ने पूरे राज्य में लाखों शिक्षितों को रोजगार दिया है।

ऐसे में इसके प्रोसेस और प्रगति के क्षेत्र में बेहतर कार्य की जरुरत है। कहा कि विदेशों में झारखंड से बने हस्तशिल्प वस्तुओं का डिमांड सबसे अधिक है।
कार्यशाला को संबोधित करते हुए सहायक निदेशक ने कहा कि बेरोजगारी के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति के विकास के लिए रेशम उद्योग मील का पत्थर साबित हुआ है। रेशम उद्योग के कारण ही स्वालंबन के क्षेत्र में आत्मनिर्भरता भी बढ़ रहा है। सहायक निदेशक ने रेशम उद्योग को बेहद फायदे वाले बताते हुए कहा कि जितना उन्नत खेती के टिप्स किसान जानेगें, किसानों को भी उतना ही फायदा होगा। इस बीच प्रमंडलीय कार्यशाला में कई पदाधिकारी और किसान मौजूद थे।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….