स्वास्थ व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए विधायक ने की सीएस के साथ बैठक
गिरिडीह झारखंड

स्वास्थ व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए विधायक ने की सीएस के साथ बैठक

जीटी रोड में ट्रामा सेंटर का निर्माण का प्रस्ताव तैयार करने पर बनी सहमति

गिरिडीहः सदर अस्पताल समेत जिले के स्वास्थ व्यवस्था को सुधारने का प्रयास गुरुवार को स्थानीय विधायक सुदिव्य कुमार सोनू करते नजर आएं। शुक्रवार को विधायक सोनू और झामुमो अध्यक्ष संजय सिंह ने सिविल सर्जन डा. अवधेश सिन्हा और आरसीएच पदाधिकारी डा. सिद्धार्थ सन्याॅल के साथ बैठक की। दो घंटे तक चले बैठक में कई मुद्दों पर चर्चा हुई। इस दौरान विधायक सोनू ने सबसे पहले सदर अस्पताल के पुराने जर्जर भवनों को तोड़कर नया भवन तैयार करने का प्रस्ताव बनाने की बात कही। इसके लिए विधायक सोनू ने सिविल सर्जन को तुंरत प्रस्ताव बनाने का सुझाव दिया। जिससे वक्त पर पुराने भवन के बजाय नए भवन बनाने का कार्य शुरु हो सकें।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

एएनएम काॅलेज में बिजली व बस की व्यवस्था बहाल कराने का दिया आश्वासन

बैठक में जीटी रोड में लगातार बढ़ते सड़क हादसे के बाद घायलों के समुचित इलाज के लिए ट्रामा सेंटर के निर्माण कार्य कराने पर चर्चा किया गया। विधायक ने ट्रामा सेंटर के निर्माण कार्य के लिए भी सिविल सर्जन को प्रस्ताव बनाकर स्वास्थ विभाग को भेजने की बात कही। सिविल सर्जन समेत अन्य पदाधिकारियों के साथ हुए बैठक में विधायक सोनू ने पपरवाटांड़ में संचालित एएनएम स्कूल की चर्चा की। एएनएम स्कूल की जानकारी देते हुए सिविल सर्जन ने कहा कि एएनएम स्कूल बेहतर तरीके से चल तो रहा है। लेकिन आवासीय स्कूल में बिजली के अभाव मेें नर्स रहना नहीं चाहती है।

साथ ही एएनएन स्कूल से सदर अस्पताल और चैताडीह मातृत्व शिशु स्वास्थ इकाई तक आने-जाने का कोई साधन नहीं है। लिहाजा, नर्सो के लिए सबसे बड़ी परेशानी का कारण यही है। इस पर विधायक सोनू ने भरोषा दिलाया कि एएनएम स्कूल में अगले कुछ दिनों में बिजली बोर्ड के अधीक्षण अभियंता से वार्ता कर बिजली आपूर्ति की व्यवस्था की जायेगी। वहीं नर्सो के आने-जाने के लिए भी जल्द ही बस की सुविधा उपलब्ध कराई जायेगी। उन्होेंने स्कूल में सुरक्षा गार्डो की व्यवस्था कराने का भी आश्वासन दिया।

कई स्वास्थ्य सुविधाओं को पीपी मोड में चलाने का दिया सुझाव

इस दौरान चैताडीह मातृत्व शिशु स्वास्थ इकाई परिसर में मोरचर्री हाउस का मुद्दा उठा। अज्ञात शव को सुरक्षित रखने वाले चैताडीह के शवगृह में भी बिजली के अभाव की बात सामने आई। इस पर विधायक ने सिविल सर्जन को तीन दिनों के भीतर शवगृह में बिजली व्यवस्था बहाल कराने का भरोषा दिलाया। वहीं मातृत्व शिशु स्वास्थ इकाई परिसर में संचालित अन्य स्वास्थ सुविधाओं को पब्लिक प्राईवेट मोड में चलाने का सुझाव दिया गया। इस बीच व्हीटी बाजार में संचालित मुहल्ला क्लिनिक को शहर के दुसरे इलाके में ट्रांसर्फर करने की बात कही गई। बैठक में स्वास्थ विभाग के कई पदाधिकारी व कर्मी मौजूद थे।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….