मधुबन में चार महिने से जारी मजदूरों के अनिश्चितकालीन हड़ताल को समर्थन देगा माले
गिरिडीह झारखंड

मधुबन में चार महीने से जारी मजदूरों के अनिश्चितकालीन हड़ताल को समर्थन देगा माले

हड़ताल में शामिल है 20 हजार मजदूर, बैठक कर बनी रणनीति

गिरिडीह। जैनियों के प्रमुख तीर्थस्थल मधुबन में बीते 4 महीनों से मजदूर अपनी विभिन्न मांगों को लेकर अनिश्चिकालीन हड़ताल पर है। इस अनिश्चितकालीन हड़ताल में क्षेत्र के करीब 20 हजार मजदूर शामिल है। हड़ताल के मद्देनजर गुरुवार को क्रांतिकारी मजदूर यूनियन के अधिकारियों की एक बैठक हुई। बैठक में माले नेता राजेश सिन्हा के अलावे अध्यक्ष बसंत कुमार, सचिव मनोज महतो, अजीत राय, मोहम्मद नौशाद, नाथूराम महतो, चुड़का हंसदा, संदीप, सूरज, जितेंद्र के अलावा अन्य कई लोग मौजूद थे। इस दौरान मजदूरों की विभिन्न समस्याओं को लेकर विचार विमर्श किया गया। साथ ही इन मजदूरों के हक और अधिकार के लिए आंदोलन की रूप रेखा तैयार की गयी।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

छटनी और बकाया वेतन भुगतान की मांग को लेकर हड़ताल पर है मजदूर

बैठक के दौरान बताया गया कि तीन संस्थाओं द्वारा मजदूरों की छटनी की गयी है, वहीं बकाया वेतन का भुगतान भी नहीं किया गया हैं। जबकि बोनस व अन्य सुविधाओं की आस तो मजदूरों ने छोड़ ही दी हैं। मजदूरों का प्रतिशत वृद्धि किया गया था, जो कि अब तक लागू नहीं किया गया है। वहीं इन लोगों की नौकरी जाने से इनके परिवार में भुखमरी की नौबत आ गई हैं। विदित हो कि मधुबन में डोली मजदूर, दैनिक मजदूर, कोठी मजदूर व अन्य को मिलाकर करीब 20 हजार मजदूर बीते 4 महीनों से हड़ताल पर है, बावजूद इसके उनके हक के लिए अब तक कोई पहल नहीं की गई हैं। जिससे इन मजदूरों में नाउम्मीदी और निराशा का माहौल व्याप्त हो रहा है।

माले मजदूरों के हक और अधिकार के लिए संघर्षरत: राजेश सिन्हा

मधुबन में चल रहे मजदूरों का अनिश्चित कालीन हड़ताल को समर्थन देते हुए गिरिडीह विधानसभा प्रभारी राजेश सिन्हा ने कहा कि पार्टी स्तर पर बात रखी जायेगी तो जल्द ही पार्टी स्तर पर निर्णय लिया जायेगा। कहा कि माले हमेशा मजदूरों के हक और अधिकार के लिए बढ़कर साथ देंगे।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….