जीरोकट बिजली आपूर्ति के उद्देश्य से जिले में पावर ग्रिड बनकर हुआ तैयार
गिरिडीह झारखंड

जीरोकट बिजली आपूर्ति के उद्देश्य से जिले में पावर ग्रिड बनकर हुआ तैयार

करीब एक सौ 32 करोड़ के लागत से तैयार हुआ पावर ग्रिड

दुमका-जसीडीह वाया गिरिडीह ग्रिड ट्रांसमिशन लाईन को मिलेगा एलएंडटी से बिजली

गिरिडीह। जिले में एक सौ 32 करोड़ के लागत से तीन पावर ग्रिड बनकर तैयार है। जिसमें गिरिडीह जिला मुख्यालय स्थित पचंबा करहरबारी पावर ग्रिड करीब 61 करोड़ तो जमुआ और सरिया का ग्रिड 38-38 करोड़ का है। इधर प्रतीक्षा बस तीनों ग्रिड ट्रांसमिशन लाईन को पावर मिलने का है। अगर सब ठीक रहा तो संभवत आने वाले भीषण गर्मी के दौरान जिले के लोगों को पाॅवरकट की समस्या झेलनी नहीं पड़ेगी। पावर ग्रिड तीनों बनकर तैयार है साथ ही इन ग्रिड को पहुंचाने वाले जसीडीह से गिरिडीह तक 279 टावर भी लग चुके है। जिनसे गिरिडीह जिला मुख्यालय के पचंबा करहरबारी स्थित मुख्य पावर ग्रिड को बिजली आपूर्ति किया जाएगा। लेकिन अड़चन सिर्फ जसीडीह और दुमका के मदनपुर ग्रिड में हो रहे वर्क के कारण बिजली आपूर्ति में समस्या हो रही है।

वैसे गौर करने वाली बात यह है कि केन्द्र सरकार का यह प्रोजेक्ट चार साल पुराना साल 2016 का है। लेकिन गिरिडीह जिला मुख्यालय समेत जमुआ और सरिया में ग्रिड निर्माण का कार्य जमीन के अभाव में साल 2017 में शुरु किया गया। वहीं तीन साल बाद तीनों ग्रिड बनकर तैयार हुआ।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

दो महीनें में हो सकता है चालू

इधर तीनों पावर ग्रिड को लेकर झारखंड उर्जा संचरण निगम लिमिटेड के देवघर अधीक्षण अभियंता संजीव कुमार ने बताया कि तीनों ग्रिड बनकर तैयार हो चुके है। उम्मीद है फरवरी से लेकर मार्च महीनें में तीनों ग्रिड को चालू कर दिया जाएगा। अधीक्षण अभियंता ने यह भी बताया कि गिरिडीह के करहरबारी स्थित पावर ग्रिड में दुमका वाया जसीडीह से दो लाख 20 हजार किलोवाॅट बिजली आपूर्ति किया जाएगा। करहरबारी के इसी ग्रिड से जमुआ और सरिया के एक लाख 32 हजार ग्रिड को बिजली आपूर्ति किया जाएगा।

एक साथ दर्जन भर पावर सब स्टेशन को करेंगे बिजली आपूर्ति

जमुआ और सरिया के पावर ग्रिड एक साथ दर्जन भर पावर सब स्टेशन को बिजली आपूर्ति करेंगे। जबकि जिला मुख्यालय पचंबा करहरबारी ग्रिड से जिला मुख्यालय समेत बेंगाबाद, गांडेय समेत कई पावर सब स्टेशन को बिजली आपूर्ति किया जाएगा। जिसमें शहर के डाड़ीडीह सब स्टेशन के अलावे बस पड़ाव और सिहोडीह के प्रखंड कार्यालय स्थित नवनिर्मित सब स्टेशन के पावर सब स्टेशन को बिजली आपूर्ति किया जाएगा। वैसे गौर करने वाली बात यह है कि दुमका-जसीडीह वाया गिरिडीह ग्रिड ट्रांसमिशन लाईन को एलएंडटी से बिजली आपूर्ति किया जाएगा। बहरहाल, जीरोकट बिजली आपूर्ति को लेकर जो पहल किया गया है। उम्मीद अब यही जताया जा रहा है कि संभवत फरवरी-मार्च महीनें से जिले के बेहतर बिजली आपूर्ति मिलना संभव है।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….