बाबूलाल मरांडी की घर वापसी तय, 14 फरवरी को बीजेपी में हो सकता है पार्टी का विलय 
गिरिडीह झारखंड टॉप-न्यूज़

बाबूलाल मरांडी की घर वापसी तय, 14 फरवरी को बीजेपी में हो सकता है पार्टी का विलय 

गिरिडीह : झारखंड के पहले मुख्यमंत्री और झारखंड विकास मोर्चा (प्रजातांत्रिक) के अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी 14 फरवरी को फिर से भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो जाएंगे। इसे उनकी घर वापसी के तौर पर देखा जा रहा है। 13 साल पहले उन्होंने बीजेपी से नाता तोड़कर अपनी नई पार्टी बना ली थी। सूत्रों की मानें तो 14 फरवरी को रांची में आयोजित एक कार्यक्रम में वे अपनी पूरी पार्टी की बीजेपी में विलय की घोषणा करेंगे। इस कार्यक्रम में बताया बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भी मौजूद रहेंगे। हालांकि इस मामले पर अभी भी कोई भाजपा का कोई भी नेता ऑन रिकॉर्ड कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है।

झारखंड के पहले मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी भाजपा और आरएसएस के पूर्व नेता हैं। 2006 में बीजेपी से अलग होकर उन्होंने झारखंड विकास मोर्चा नामक नई पार्टी बना ली थी। शुरुआत में तो उनकी पार्टी का प्रदर्शन ठीक ठाक रहा पर बाद में ग्राफ लगातार गिरता गया। 2009, 2014 और 2019 के झारखंड विधानसभा चुनाव में पार्टी को क्रमशः ग्यारह, आठ और तीन सीटों पर ही जीत मिली।

2019 झारखंड विधानसभा चुनाव के बाद से ही राजनीतिक गलियारों में इस बात की चर्चा थी कि मरांडी की पार्टी का बीजेपी में विलय होने वाला है। हाल के महीनों में हुई राजनीतिक गतिविधियों से इन कयासों को बल भी मिला। हाल ही मरांडी ने पार्टी की कार्यकारिणी को भी भंग कर दिया था। उन्होंने कहा था कि इसे नए सिरे से बनाने की जरूरत है। इसके बाद विधायक बंधु तिर्की को पार्टी से बाहर किया और अब प्रदीप यादव को भी कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया गया है।