जमीन पर कब्जा करने के उद्देश्य से किया झोपड़ी को क्षतिग्रस्त
जमुआ झारखंड

जमीन पर कब्जा करने के उद्देश्य से किया झोपड़ी को क्षतिग्रस्त

घर के लोगों से की मारपीट, एससीएसटी में फंसाने की दी धमकी

जमुआ (गिरिडीह)। जमुआ थाना क्षेत्र के नावाडीह (दुम्मा) में सोमवार रात को कतिपय लोगों द्वारा एक जमीन पर कब्जा जमाने के उद्देश्य से उस पर बनी झोपड़ी को क्षतिग्रस्त कर देने का मामला प्रकाश में आया है। झोपड़ी तोड़ने का विरोध करने पर मारपीट कर आधा दर्जन लोगों को जख्मी भी कर दिया गया। इस बाबत दुम्मा सखेयबाद निवासी झगरू ठाकुर ने थाना में आवेदन देकर नावाडीह के चरका तुरी, घनश्याम तुरी सहित 10 लोगों को आरोपी बनाया है। उन्होंने कहा है कि उनकी रैयती जमीन पर बनी झोपड़ी को उक्त लोग रात्रि में करीब साढ़े आठ बजे तोड़ने लगे। नाजायज मजमा बनाकर आये उक्त लोग शराब के नशे में थे।

झोपड़ी तोड़ने से मना करने पर उनको रड से मार कर जख्मी कर दिया। बीच बचाव करने आयी उनकी पत्नी गुड़िया देवी, भाभी शालिनी कुमारी, भाई रामेश्वर ठाकुर और चचेरा भाई पिंटू शर्मा को भी मारपीट कर जख्मी कर दिया।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

लोगों ने की प्रशासन से कार्रवाई की मांग

झगरू ठाकुर के अनुसार उनसे अट्ठाइस सौ रुपये छीन लिए और झोपड़ी में रखा सामान भी ले गए। साथ ही जान से मारने और एसटी एससी के मामले में फंसाने की बात कही। इधर इस मामले को लेकर मंगलवार को सखेयबाद के ग्रामीणों ने आपस मे बैठक की और प्रशासन से उचित कार्रवाई करने की मांग की। माले नेता रामेश्वर ठाकुर ने कहा कि नावाडीह के खाता 90 प्लॉट 342 पर सार्वजनिक रास्ता लगभग 80 वर्षों से है। इस जमीन पर चारागाह और देव स्थान वर्षों से है। उक्त जमीन पर दखल करने की मंशा से कुछ लोग इस तरह की हरकत कर रहे हैं। वर्ष 2019 में ही इस संबंध में अंचल अधिकारी को आवेदन दिया गया है।

प्रशासन द्वारा इस दिशा में सार्थक पहल नही किये जाने से विधि व्यवस्था की समस्या उत्पन्न हो गयी है।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….