प्रतिमा विसर्जन जुलूस में लगाये गये आपत्तिजनक नारे
झारखंड डुमरी

प्रतिमा विसर्जन जुलूस में लगाये गये आपत्तिजनक नारे

पुलिस ने 11 लोगों को गिरफ्तार कर भेजा जेल

डुमरी(गिरिडीह)। डुमरी थाना क्षेत्र के कुलगो में शनिवार की रात्रि मां सरस्वती की प्रतिमा विसर्जन को लेकर निकाली गई प्रतिमा शोभायात्रा में शामिल कुछ युवकों के द्वारा एक धर्म विशेष समुदाय के आस्था का केन्द्र के समीप अभद्र गाना का प्रसारण करने एवं भड़काऊ नारा लगाने तथा स्थानीय जनप्रतिनिधियों व क्षेत्र के पुलिस बलों के साथ गाली गलौज करने का मामला सामने आया है। मामले में पुलिस ने 11 युवकों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करते हुए उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। गिरफ्तार सभी आरोपी अठारह से तीस वर्ष के उम्र के बीच के हैं। जेल भेजे गए युवकों में तीन भाई भी शामिल है।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

समझाने गये पुलिस व स्थानीय पंचायत प्रतिनिधियों के साथ की धक्का मुक्की

थाना प्रभारी उपेन्द्र राय ने बताया कि कुलगो गांव में सरस्वती प्रतिमा विसर्जन को लेकर शोभायात्रा निकाली गई थी। बताया कि जुलूस जब एक धर्म विशेष समुदाय के धार्मिक स्थल पर पहुंचा तो शोभायात्रा में शामिल कुछ युवकों द्वारा आपत्तिजनक गाना बजाने के साथ भड़काऊ नारा भी लगाने लगा। जब युवकों को स्थानीय पंचायत प्रतिनिधियों द्वारा समझाने का प्रयास किया गया तो युवक उनसे ही उलझ कर अमार्यादित व्यवहार करने लगे। इस दौरान थाना प्रभारी सहित अन्य पुलिस के जवान जब युवकों को समझाने गये तो युवक उनसे भी उलझ गये और गाली गलौज करने लगे।

इन लोगों को भेजा गया है जेल

थाना प्रभारी ने बताया कि मामले में स्व. बालेश्वर भगत के तीन पुत्रों प्रमोद कुमार (24), श्रवण कुमार (21) व रौशन कुमार (19) के अलावे विशाल रजक (23), राजन सिंह (25), करण पांडेय (18), विशाल कुमार (19), धर्मेंद्र कुमार (22), सोनू कुमार (18), सत्यम पांडेय (19) एवं कुंदन कुमार (27) को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….