भारत बंद का जमुआ में रहा मिलाजुला असर
जमुआ झारखंड

भारत बंद का जमुआ में रहा मिलाजुला असर

यातायात रहा प्रभावित, दफ्तर व दुकान रहे खुले

जमुआ(गिरिडीह) : बहुजन क्रांति मोर्चा के बैनर तले किये गए भारत बंद का जमुआ में मिलाजुला असर रहा। जमुआ चौक पर बंद समर्थकों के बैठ जाने से जमुआ-देवघर, जमुआ- कोडरमा, जमुआ-पचम्बा वाया चित्तरडीह और जमुआ-गिरिडीह मुख्य मार्ग प्रथम पहर तक बाधित रहा, जबकि दुकान , बाजार और सरकारी कार्यालय अन्य दिनों की तरह ही खुले रहे। बंद के समर्थन में यादव सेना, भीम आर्मी, इस्लाहुल मुस्लेमीन, मोनिम सोसायटी, राष्टीय आदिवासी एकता परिषद्, कुशवाहा महासंघ (उपेन्द्र कुशवाहा गुट), राजद, जाप समेत कई अन्य संगठनों के नेता और कार्यकर्ता सडक पर उतरे।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

बंद रहा पूरी तरह सफल : एसरार

इस दौरान संविधान बचाओ संघर्ष समिति के प्रदेश प्रभारी एसरार आलम ने कहा कि सीएए, एनपीआर और एनआरसी के विरोध में आहूत बंद पूरी तरह सफल रहा है। अगर सरकार देश को खंडित करने वाले कानून को वापस नहीं लेती है तो वर्तमान सरकार के खिलाफ व्यापक आंदोलन जारी रहेगा। कहा कि यह कानून न सिर्फ संविधान के मुलभावना के खिलाफ है बल्कि संविधान के प्रस्तावना को भी तार तार करती है और देश को समाज और जाति के आधार पर बाटने का काम करती है।

मूलभूत समस्याओं से जनता का ध्यान भटकाने का प्रयास : शंकर

यादव सेना के जिलाध्यक्ष शंकर यादव ने कहा कि केंद्र सरकार मूलभूत समस्याओं से जनता का ध्यान भटकाने के लिए  देश तोड़ने वाली कानून लेकर आ रही है। जबकि देश को शिक्षा, रोजगार, स्वास्थ्य, जीडीपी का स्तर उठाने का समय है। लेकिन इन सब मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए गरीब विरोधी एनआरसी, एनपीआर व सीएए जैसे कानून जबरन थोपने का काम कर रही है। इससे देश में अस्थिरता का माहौल पैदा हो गया है।

ये थे मौजूद

बन्द में मंसूर अंसारी, ओमप्रकाश महतो,ललन यादव, त्रिभुवन यादव, शंकर यादव  राजेश दास, राजेन्द्र रजक, छाया भारती, संजु कुमारी, शारदा कुमारी, ललिता देवी, अनीता देवी, किशोर दास, रूपेश रजक, एसरार आलम, हुब्लाल यादव, मंजूर अंसारी, दिनेश दास, इस्लाम अंसारी, रब्बुल हसन रब्बानी, आलम अंसारी समेत काफी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद थे।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….