छात्र हत्याकांड मामले का पुलिस ने घटना के 24 घंटे के अंदर किया उद्भेदन प्रेमिका के साथ छेड़ छाड़ करने के कारण प्रेमी दोस्त ने की रीतेश की हत्या एसपी ने दुसरे दिन प्रेसवार्ता कर किया खुलासा
Uncategorized क्राइम गिरिडीह झारखंड

छात्र हत्याकांड मामले का पुलिस ने घटना के 24 घंटे के अंदर किया उद्भेदन, प्रेमिका के साथ छेड़ छाड़ करने के कारण प्रेमी दोस्त ने की रीतेश की हत्या एसपी ने दुसरे दिन प्रेसवार्ता कर किया खुलासा

गिरिडीह। 17 वर्षीय छात्र रीतेश कुमार चाौधरी की हत्या का कारण दोस्त की प्रेमिका के साथ छेड़छाड़ के रुप में ही सामने आया है। यही नही रीतेश की हत्या का कारण जो लड़की बनी वह भी नाबालिग है और हत्या में शामिल मृतक छात्र रीतेश का दोस्त सिद्धार्थ कुमार वर्मा भी नाबालिग है। वैसे रीतेश की हत्या में शामिल अन्य आरोपियों की तलाश में पुलिस जुटी हुई है। इधर गिरिडीह के पचंबा थाना पुलिस ने मुख्य आरोपी सिद्धार्थ को पुलिस ने बेंगाबाद थाना क्षेत्र के चितमाडीह गांव से दबोचने में सफलता प्राप्त की है। वहीं मौके पर मिले बाइक के मालिक और मृतक के दोस्त छोटू यादव को बरगंडा स्थित उसके घर से गिरफ्तार किया है। पुलिस ने हत्या में शामिल किए गए बाईक के साथ खून लगा हुआ लकडी का कुंदा भी जब्त कर लिया।

रीतेश के मकान मालिक की बेटी के साथ सिद्धार्थ ने कर ली थी शादी

हत्या के दुसरे दिन यानि, 24 घंटे बाद गुरुवार को पुलिस लाईन में आयोजित प्रेसवार्ता के दौरान एसपी सुरेन्द्र झा, डीएसपी संतोष मिश्रा, पुलिस निरीक्षक सहदेव प्रसाद ने मामले का उद्भेदन करते हुए बताया कि देवरी के नावाडीह गांव निवासी विजय चाौधरी के 17 वर्षीय बेटा रीतेश अपनी मां के साथ सिहोडीह मुहल्ले में एक किराये के मकान में रहता था। लेकिन जिस मकान में रीतेश अपनी मां के साथ रहता था। उस मकान मालिक की बेटी के साथ रीतेश् के दोस्त सिद्धार्थ का अफेयर चलता था। जिससे सिद्धार्थ वर्मा ने गुपचुच तरीके से शादी कर लिया था। पूछताछ में सिद्धार्थ ने यह भी बताया कि कोचिंग इन्स्टीच्यूट में पढ़ाई के दौरान सिद्धार्थ की दोस्ती पहले रीतेश के साथ हुई। वहीं रीतेश जिस मकान में किराये पर रहता था। रीतेश से मिलने-जुलने के नाम पर सिद्धार्थ अक्सर उसके घर जाया करता था। जहां सिद्धार्थ से रीतेश के मकान मालिक की बेटी के साथ एक साल पहले अफेयर हुआ। अफेयर होने के बाद ही सिद्धार्थ ने लड़की से शादी भी कर लिया था।
दिनभर साथ रहने के बाद सिद्धार्थ ने की रीतेश की हत्या

प्रेसवार्ता के दौरान एसपी ने कहा कि संभवतः रीतेश को सिद्धार्थ और उसके मकान मालिक की बेटी की शादी की जानकारी नहीं थी। एक दिन रीतेश ने सिद्धार्थ की प्रेमिका के साथ छेड़छाड़ करते हुए गलत करने का प्रयास किया। जिसकी जानकारी प्रेमिका ने सिद्धार्थ को दी। इसके बाद ही रीतेश की हत्या करने की प्लानिंग सिद्धार्थ ने बनाई और मंगलवार को मृतक छात्र रीतेश को लेकर सिद्धार्थ वर्मा झरियागादी स्थित अपने मकान मालिक बालगोपाल यादव के घर पहुंचा। इस दौरान सिद्धार्थ ने मुंशी महतो के बेटे छोटू यादव के बाईक का सहयोग लिया। बताया कि सिद्धार्थ, छोटू यादव व रीतेश ने पहले झरियागादी में बालगोपाल यादव के घर गांजा पीया। इसके बाद सिद्धार्थ रीतेश को लेकर बाजार गया और तिलकूट खरीद कर बनखंजो पहुंचे, जहां सिद्धार्थ ने रीतेश के साथ मारपीट करते हुए लकड़ी के कुंदे से बनखंजो पहाड़ के पीछे उसकी हत्या कर दी। इस दौरान आरोपी ने मामले को सड़क दुर्घटना का रूप भी देने का प्रयास किया।

 ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर