आठ जनवरी को प्रस्तावित ह्ड़ताल व भारत बंद में इंटक शामिल नही
गिरिडीह झारखंड

आठ जनवरी को प्रस्तावित ह्ड़ताल व भारत बंद में इंटक शामिल नही

प्रेस विज्ञप्ति जारी कर दी जानकारी, 18 जनवरी को रहेंगे हड़ताल पर

गिरिङीह। केन्द्र सरकार के गलत नीतियों के विरोध में आठ जनवरी को आहुत विपक्षी दलों व वामपंथियों के भारत बंद में राष्ट्रीय कोलियरी मजदूर संघ (इंटक) शामिल नही होगा। इस बात की जानकारी इंटक के क्षेत्रीय सचिव मिथिलेश यादव एवं युवा इंटक के प्रदेश अध्यक्ष ऋषिकेश मिश्रा ने मंगलवार को संयुक्त प्रेस बयान जारी कर कहा कि आठ जनवरी को आहुत हड़ताल प्रस्तावित ट्रेड युनियनो की वामपंथी संगठनों का एक छलावा और धोखा है। जिसमें कुछ पिछलग्गू महासंघ भी शामिल हैं।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

सभी महासंघ एकजूट होकर लेते हड़ताल का निर्णय

कहा कि सच में यदि इन्हें मजदूरों की चिंता होती तो सारे महासंघ अपनी चट्टानी एकता का संदेश देते हुए एक साथ मिलकर हड़ताल करने का निर्णय लेते। तब यह हड़ताल सफल भी होती और सरकार की नींद भी हराम होती और सरकार सारी मांगे मानने के लिए भी विवश होती। कहा कि महासंघों को अपने वर्चस्व और अहंकार की लड़ाई छोड़कर एक मंच पर लाने के उद्देश्य से विरोध स्वरूप हम सभी मजदूर आठ जनवरी की हड़ताल में शामिल नहीं होंगे और रोज की तरह अपना कार्य करेंगे। कहा कि यदि सरकार ने उनकी मांगे नहीं मानी तो चन्द्रशेखर दुबे के नेतृत्व में इंटक की आगामी 18 जनवरी की प्रस्तावित हड़ताल में शामिल होकर उसे सफल बनाया जायेगा।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….