नवजात बदलने की बात पर अस्पताल में हंगामा
गिरिडीह झारखंड टॉप-न्यूज़

नवजात बदलने की बात पर अस्पताल में हंगामा

परिजनों ने बेटा की जगह बेटी थमाने का लगाया आरोप  

गिरिडीह। शहर के मकतपुर स्थित शिवम नर्सिंग होम में शनिवार की शाम उस वक़्त हंगामा का माहौल बन गया जब एक परिवार वालों को अस्पताल प्रबंधन पर नवजात बच्चे को बदलने का आरोप लगाया। परिजनों ने आरोप लगाते हुए कहा कि अस्पताल के डॉक्टर और नर्स द्वारा उनके नवजात बच्चे को बदल दिया गया है, और इसी बात से नाराज़ परिजनों ने अस्पताल में बवाल काटा। ताराटांड़ थाना क्षेत्र कोरबनदा के रहने वाले कामेश्वर मंडल का आरोप है कि पहले उनकी पत्नी को लड़का होने की बात अस्पताल के कर्मियों द्वारा बताया गया। 15 मिनट बाद उनके गोड में नर्स द्वारा एक नवजात बच्ची को लाकर दिया गया। इनका कहना है कि आपरेशन थियेटर में ही नवजात को बदल दिया गया है।

धात्री महिला के पति कामेश्वर मंडल ने बताया कि सुबह उन्होंने अपनी गर्भवती पत्नी को अस्पताल में भर्ती कराया था। दोपहर ढाई बजे के लगभग एक नर्स द्वारा उन्हें ओपरेशन के माध्यम से बेटा होने की सूचना दी गई।सूचना देने के पन्द्रह बीस मिनट बाद दूसरी नर्स ने उन्हें एक नवजात बच्ची को लाकर उनकी माँ को सौंपा।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

चिकित्सक ने आरोपों को बताया बेबुनियाद

नवजात बदलने की बात पर अस्पताल में हंगामा

इधर इस बाबत अस्पताल की चिकित्सक डॉ इंदिरा सिन्हा ने परिजनों के आरोप को बेबुनियाद बताया। उन्होंने कहा कि अस्पताल में इस तरह का कुकृत्य नहीं किया जाता है। लड़का होने की बात किसने बताई वह उनकी जानकारी में नहीं है।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….