पत्नी की हत्या के मामले में प्रधान जिला जज ने सुनाई सजा
गिरिडीह झारखंड

पत्नी की हत्या के मामले में प्रधान जिला जज ने सुनाई सजा

आरोपी पति को आजीवन कारावास व 20 हजार का लगाया जुर्माना

अवैध संबध में पति ने कि थी पत्नी रिंकी की हत्या

गिरिडीह। गिरिडीह के प्रधान जिला एवं सत्र न्यायधीश दीपक नाथ तिवारी के कोर्ट ने पत्नी हत्या के आरोपी पति वीरेंन्द्र यादव को शुक्रवार को आजीवन कारावास की सजा सुनाने के साथ 20 हजार का जुर्माना लगाया गया है। वहीं जुर्माना का भुगतान नहीं होने पर एक साल का अतिरिक्त सजा सुनाया है। प्रधान जिला एंव सत्र न्यायधीश के कोर्ट ने आरोपी पति वीरेन्द्र यादव को वीडियो क्रांफेसिंग के माध्यम से सजा सुनाया। जानकारी के अनुसार पत्नी हत्या का यह मामला गिरिडीह के हीरोडीह थाना क्षेत्र से जुड़े गांव का है।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

पिता ने बतौर सूचक दर्ज कराई थी प्राथमिकी

मृतका की हत्या के सूचक पिता देवरी थाना क्षेत्र के गोरटोली गांव के रहने वाले चेतू यादव ने हीरोडीह थाना में आवेदन देकर दामाद वीरेन्द्र यादव पर आरोप लगाया था, कि उनकी बेटी डेगनी देवी उर्फ रिंकी की शादी वीरेन्द्र के साथ 15 साल पहले हुआ था। थाना को दिए आवेदन में चेतू यादव ने दामाद पर आरोप लगाते हुए कहा कि उसका दामाद वीरेन्द्र उनकी बेटी रिंकी को अक्सर काली होने की बात कहकर पीटाई किया करता था। दो बच्चें होने के बाद भी वीरेन्द्र उनकी बेटी यानि, अपनी पत्नी रिंकी के साथ मारपीट किया करता था। पति से मारपीट होने के बाद भी रिंकी पति के साथ रहा करती थी। इसी दौरान पति का अवैध संबध किसी और के साथ होने की जानकारी रिंकी को मिली। पति के साथ अवैध संबध होने का विरोध जब मृतिका रिंकी ने किया, तो पति ने पत्नी रिंकी की हत्या कर दी।

खेत में मिली थी लाश

इधर बेटी की हत्या होने के बाद मृतका के पिता ने हीरोडीह थाना में ओवदन देकर बेटी की हत्या का आरोपी दामाद पर लगाते हुए कहा कि एक अक्टूबर 2018 को उन्हें बेटी की हत्या की जानकारी मिली। ससुराल पहुंचने के बाद बेटी के ससुराल से करीब 100 मीटर दूर खलिहान में बेटी रिंकी का शव देखा। जिसमें बेटी के एक हाथ और एक पांव की हड्डी टूटी हुई थी। जिससे यह पता चला कि रिंकी की हत्या से पहले उसकी जमकर पीटाई हुई है। इसके बाद पिता चेतू यादव ने हीरोडीह थाना को लिखित आवेदन देकर बेटी की हत्या का केस दर्ज कराया। जिसमें थाना के तत्कालीन एसआई फैज रब्बानी ने पूरे कांड का अनुसंधान कर आरोपी पति के खिलाफ चार्जशीट तैयार कर कोर्ट में सौंपा। जिसके आधार पर आरोपी पति पर पत्नी के हत्या का आरोपी गठित किया गया। जबकि शुक्रवार को उसे सजा सुनाया गया।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….