गांडेय के कर्माटांड़ गांव के दो पत्थर खदान व क्रेशर से 10 पेटी विष्फोटक बरामद
गिरिडीह झारखंड

गांडेय के कर्माटांड़ गांव के दो पत्थर खदान व क्रेशर से 10 पेटी विष्फोटक बरामद

एसपी को मिली गुप्त सूचना पर पुलिस ने की कार्रवाई

संगीता अग्रवाल व राजेन्द्र मेहता का है पत्थर खदान व क्रेशर

गिरिडीह। गांडेय के कर्माटांड़ गांव के दो पत्थर खदान और एक क्रेशर में छापेमारी कर गिरिडीह के गांडेय पुलिस ने बड़े पैमाने पर विष्फोटक पद्धार्थ बरामद किया। गांडेय पुलिस को यह सफलता मंगलवार शाम करीब छह बजे मिला। पुलिस की छापेमारी समाचार लिखे जाने तक जारी थी। लिहाजा, यह साफ नहीं हो पाया है कि बरामद विष्फोटक का वजन कितना है। लेकिन पुलिस की मानें तो 10 पेटी में करीब सात सौ किलो विष्फोटक पद्धार्थ कर्माटांड़ गांव स्थित दो पत्थर खदान और एक क्रेशर से जब्त किया गया है।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

घनी आबादी के बीच मौजूद है खदान और क्रेशर

गांव के जिन खदानों और क्रेशर से विष्फोटक बरामद किया गया। उसके आसपास घनी आबादी है। गांडेय के कर्माटांड़ गांव का दोनों पत्थर खदान में एक खदान संगीता अग्रवाल तो दुसरा राजेन्द्र मेहता का बताया जा रहा है। जबकि इन दोनों खदानों के बीच संचालित क्रेशर भी राजेन्द्र मेहता का ही बताया जा रहा है। कार्रवाई के दौरान पुलिस ने करीब दर्जन भर लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। जिसमें दोनों खदान में कार्यरत मजदूरों के साथ कुछ स्थानीय ग्रामीण भी शामिल है। अब पुलिस इन ग्रामीणांे और मजदूरों से ही पूछताछ कर रही है कि आखिर इतने बड़े पैमाने पर दोनों खदान मालिकों ने विष्फोटक कहां से लेकर आएं थे।

स्टोर रूम और खदान से बरामद हुआ विष्फोटक

जानकारी के अनुसार पुलिस ने विष्फोटकों के जखीरें को संगीता अग्रवाल के खदान के साथ राजेन्द्र मेहता के क्रेशर के स्टोर रुम के साथ इसके खदान से बरामद करने में सफलता पाया। पुलिस की कार्रवाई जब शुरु हुई, तो जवानों ने दोनों खदानों के हर कोनों के साथ क्रेशर के हर इलाके को खंगाला। इसी दौरान संगीता अग्रवाल और राजेन्द्र मेहता के खदान से पुलिस ने करीब 10 पेटी जब्त किया। पेटियों को खोला गया, तो हर पेटी से विष्फोटक पद्धार्थ मिलना शुरु हुआ। एसपी सुरेन्द्र झा को मिले गुप्त सूचना के आधार पर एसडीपीओ कुमार गौरव के नेत्तृव में छापेमारी टीम का गठन किया गया। जिसमें जिला खनन पदाधिकारी सूजीत नायक के अलावे गांडेय थाना प्रभारी प्रदीप दास और पुलिस जवान भी शामिल थे। खनन पदाधिकारी सूजीत नायक के अनुसार गांव के दोनों खदान वैद्य है। लेकिन इतने बड़े पैमाने पर विष्फोटक का आदेश नहीं था।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….