सरस्वती शिशु विद्या मंदिर में हुआ विदाई समारोह का आयोजन
गिरिडीह झारखंड

सरस्वती शिशु विद्या मंदिर में हुआ विदाई समारोह का आयोजन

आचार्य नागेंद्र मिश्रा को दी गई विदाई

गिरिडीह : सरस्वती शिशु विद्या मंदिर में शनिवार को विदाई समारोह का आयोजन कर आचार्य नागेंद्र मिश्रा विदाई दी गई। इस दौरान विद्यालय परिवार की ओर से प्रधानाचार्य ने पुष्प गुच्छ, अंग वस्त्र, शॉल व मिठाई भेंट कर उन्हें सम्मानित किया। वहीं समिति की ओर से सचिव दीपक शर्मा ने अंगूठी पहना कर नागेंद्र मिश्र को सम्मानित किया। साथ ही उन्हें ग्रेच्युटी, आकस्मिक अवकाश, अर्जित अवकाश का भुगतान भी किया गया। समारोह में मंच संचालन राजेंद्र लाल बरनवाल ने किया।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

दायित्व का निर्वहन पूरी निष्ठा और लगन से किया : संजीव

सरस्वती शिशु विद्या मंदिर में हुआ विदाई समारोह का आयोजन

समारोह को संबोधित करते हुए प्रधानाचार्य संजीव कुमार सिन्हा ने कहा कि आचार्य नागेंद्र मिश्रा जुलाई 1996 से नवंबर 2019 तक विद्यालय में अपनी कार्यकुशलता और प्रतिभा से आदर्श आचार्य के रूप में कार्य किया। उन्होंने पूर्ण लगन और निष्ठा से दायित्व का सफलतापूर्वक निर्वहन किया है।

कई कलाओं के ज्ञाता एवं कर्तव्यनिष्ठ थे आचार्य नागेन्द्र : अजित

अजीत मिश्रा ने कहा कि नागेंद्र मिश्रा कई कलाओं के ज्ञाता एवं कर्तव्यनिष्ठ थे। विद्यालय परिवार उन्हें कभी नहीं भूल सकता है। पूर्व प्रधानाचार्य शिव शंकर पांडे ने कहा कि नागेंद्र मिश्रा के विदाई समारोह में शामिल होने का उन्हें सौभाग्य प्राप्त हुआ है। मेनका नेउपाने ने कहा कि नागेंद्र कि आध्यात्मिक प्रतिभा और क्षमता अद्भुत थी। उनका अनुगूंज कण-कण में गूंजता रहेगा।

समारोह में मिले सम्मान से अभिभूत हुए आचार्य नागेन्द्र

विद्यालय परिवार की ओर से आयोजित विदाई समारोह में मिले सम्मान से अभिभूत नागेन्द्र मिश्र ने कहा कि विद्यालय से उन्हें काफी स्नेह मिला है। उन्होंने आचार्य व दीदी से विद्यालय को नई ऊचाईयों पर ले जाने का अनुरोध किया। कार्यक्रम को सफल बनाने में शिवनंदन प्रसाद कुशवाहा, हरिशंकर तिवारी, कृष्ण किशोर प्रसाद, पृथा सिन्हा, रुपम, नलिन कुमार, कृष्णकिशोर प्रसाद का सराहनीय योगदान रहा।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….