सिखों के पहले गुरु गुरुनानक देव जी के प्रकाशोत्सव पर निकला भव्य नगर-कीर्तन, निहाल हुआ गिरिडीह

सिखों के पहले गुरु गुरुनानक देव जी के प्रकाशोत्सव पर निकला भव्य नगर-कीर्तन

नगर-कीर्तन में शामिल गटका पार्टी के कलाकारों ने किया कई हैरतअंगेज खेल का प्रदर्शन

पुरुषों के साथ महिलाएं, युवतियां और बच्चे भी शामिल थे पंज प्यारे के वेश में

गिरिडीहः सिखों के पहले गुरु गुरुनानक देव जी के 550वें जन्मोत्सव सह प्रकाशोत्सव के मौके पर रविवार को गिरिडीह गुरुद्वारा सिंह सभा की ओर से निकले नगर-कीर्तन की भव्यता ने हर किसी को मंत्रमुग्ध कर दिया। पंज प्यारे की वेशभूषा में महिलाएं थी, तो पुरुष और नन्हें बच्चें और बच्चियां भी। जिसमें पंज प्यारे की पहली पंक्ति में नन्हें बच्चे और बच्चियां थी, तो दूसरी पंक्ति में महिलाएं और युवतियां।

सिखों के पहले गुरु गुरुनानक देव जी के प्रकाशोत्सव पर निकला भव्य नगर-कीर्तन, निहाल हुआ गिरिडीह

इसके बाद पंज प्यारे के वेश में पुरुष तलवार थामे नगर-कीर्तन में साथ चल रहे थे। सिख समुदाय की ओर से निकले भव्य नगर-कीर्तन को देख हर कोई निहाल दिखा। शहर के स्टेशन रोड स्थित प्रधान गुरुद्वारा से निकले नगर-कीर्तन में दिल्ली और लुधियाना से आए रागी जत्था भाई हरप्रीत सिंह और गगनद्वीप सिंह सबद-कीर्तन करते साथ चल रहे थे। वहीं नगर-कीर्तन में शामिल सिख समुदाय की महिलाएं खुद झाडू लिए सड़क सफाई करती नजर आई। एक वाहन में ही गुुरु ग्रंथ साहिब का सजा भव्य दरबार भी हर किसी को आकर्षित कर रहा था।

सिखों के पहले गुरु गुरुनानक देव जी के प्रकाशोत्सव पर निकला भव्य नगर-कीर्तन, निहाल हुआ गिरिडीह

गुरु नानक देव जी के जन्म शताब्दी के मौके पर निकला सिख समुदाय के नगर-र्कीतन में आस्था और श्रद्धाभाव कूट-कूट कर नजर आया। इस दौरान नगर-कीर्तन में गुरु नानक स्कूल के छात्रों के साथ सिख समुदाय के श्रद्धालु भी पूरे उत्साह के साथ जो बोले सो निहाल, सतश्री अकाल का जयकारा बुंलद करते चल रहे थे। छात्रों और श्रद्धालुओं के जयकारों से पूरा शहर गुरुनानक देवमय नजर आया। प्रधान गुरुद्वारे से निकल कर नगर-कीर्तन शहर के गांधी चौक होते हुए बड़ा चौक पहुंचा। जहां यूपी के अमरोहा से आए शहीद बाबा गटका पार्टी के नेतृत्ववकर्ता भाई द्वीप सिंह समेत उनके टीम का करतब दांतो तले उंगली दबाने वाला था।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे  YouTube चैनल पर

गटका पार्टी में शामिल कलाकारों की टीम शहर के जिस चौराहे पर रुकती, वहां कई हैरतअंगेज करतबों का प्रदर्शन करती। कलाकारों के इस प्रदर्शन को देख हर कोई वाह-वाह भी कर रहा था। करतबों के प्रदर्शन के दौरान कोई कलाकार चार पहिया वाहनों के नीचे जोखिम भरे खेल दिखा रहा था, तो कोई अग्निचक्र का खेल। सबसे रोमांचक खेल कलाकारों की टीम ने शहर के कालीबाड़ी में प्रदर्शन किया। कील से भरे बक्से में सो कर कुछ कलाकारों ने ऐसा हैरतअंगेज प्रदर्शन किया जिसे देख शहर वासी दंग रह गए।

सिखों के पहले गुरु गुरुनानक देव जी के प्रकाशोत्सव पर निकला भव्य नगर-कीर्तन, निहाल हुआ गिरिडीह

इधर प्रकाशोत्सव पर्व को लेकर निकले नगर-कीर्तन के पर शहर के कई स्थानों पर सिख समुदाय के लोगों द्वारा पुष्पवर्षा की जा रही थी। शहर के टावर चौक में ही सिख समुदाय की ओर से नगर-कीर्तन में शामिल श्रद्धालुओं के बीच शर्बत के साथ पेयजल का वितरण किया गया। गुरुद्वारा से निकल कर नगर-कीर्तन शहर के बड़ा चौक, मुस्लिम बाजार, शिवमुहल्ला, पद्म चाौक, होते हुए टावर चौक पहुंचा।

इसके बाद जिला पर्षद मोड़ होते हुए मकतपुर चौक और काली बाड़ी चौक होते लाईन मस्जिद रोड होते वापस प्रधान गुरुद्वारा पहुंच कर समाप्त हुआ। नगर-कीर्तन में गुरुद्वारा सिंह सभा के अध्यक्ष गुणवंत सिंह सलूजा, सचिव नरेन्द्र सिंह के अलावे अमरजीत सिंह सलूजा, तरणजीत सिंह सलूजा, मणि सिंह सूलजा, हरमिंदर सिंह बग्गा, राजेन्द्र सिंह बग्गा समेत सिख समुदाय के कई श्रद्धालु मौजूद थे।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं  फेसबुक पेज से….