सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सत्ता और विपक्ष के नेताओं ने की सराहना

सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सत्ता और विपक्ष के नेताओं ने की सराहना,

फैसले को बताया ऐतिहासिक, लोगों से की अमन-शांति बहाल रखने की अपील

गिरिडीह। देश के सर्वोच्च अदालत के फैसले के बाद राम मंदिर निर्माण का रास्ता साफ हो गया। शनिवार को सुबह फैसले के बाद भी जिलें की स्थिति समान्य रही। मंदिर निर्माण के फैसले पर गिरिडीह के विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों व सामाजिक लोगों ने अपनी राय सीधी नजर से साझा किया। सभी लोगों ने अदालत के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि फैसला हार-जीत का प्रतीक नहीं रहा। बल्कि, फैसले ने सांप्रदायिक सौहार्द को बढ़ावा दिया है।

किसने क्या कहा

सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सत्ता और विपक्ष के नेताओं ने की सराहना,

अधिवक्ता संघ के सचिव सह झाविमो नेता चुन्नुकांत ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने देश के वसुदेव कुंटुबम के संदेश को प्रचारित किया है। देशहित में इसे बेहतर कोई और फैसला नहीं हो सकता।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सत्ता और विपक्ष के नेताओं ने की सराहना,

कांग्रेस नेता नरेन्द्र सिन्हा उर्फ छोटन ने कहा कि राम मंदिर निर्माण को लेकर सुप्रीम कोर्ट का दिया गया फैसला स्वागत योग्य है। दोनों पक्षों के हित को देखकर फैसला दिया गया है।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सत्ता और विपक्ष के नेताओं ने की सराहना,

विहिप के जिलाध्यक्ष अश्विनी भदानी ने कहा कि राम मंदिर निर्माण का निर्णय सुनाकर सुप्रीम कोर्ट ने देश की जनता का स्वाभिमान बढ़ाया है। सनातन धर्म की आस्था के प्रतीक थे मर्यादा पुरुषोतम राम। ऐसे में जो फैसला आया है वह स्वागतयोग्य तो है ही साथ ही दुसरे पक्ष के लोगों का सम्मान बढ़ा है।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सत्ता और विपक्ष के नेताओं ने की सराहना,

नगर पर्षद के पूर्व उपाध्यक्ष सह भाजपा नेता राकेश मोदी ने कहा कि दशकों पुराने केस का फैसला सुप्रीम कोर्ट ने सुनाकर देश की जनता का सम्मान बढ़ाया है। इस ऐतिहासिक फैसले का सम्मान सबों को करना है। लिहाजा, दोनों पक्ष के लोग अब अमन और शांति के साथ रहे।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सत्ता और विपक्ष के नेताओं ने की सराहना,

माले नेता सह गिरिडीह विधानसभा प्रभारी राजेश सिन्हा ने कहा कि राम मंदिर निर्माण का फैसला समाजहित में मील का पत्थर साबित होगा। क्योंकि सुप्रीम कोर्ट ने जिस प्रकार दोनों पक्ष के दलील को सुनने के बाद फैसला दिया है। वह देशहित के लिए बेहतर प्रयास ही किया गया। अब फैसले को लेकर राजनीतिक उचित नहीं। अमन-शांति ही गिरिडीह की पहचान रही है।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सत्ता और विपक्ष के नेताओं ने की सराहना,

झाविमो नेता नवीन सिन्हा ने कहा कि राम मंदिर का फैसला ऐतिहासिक है। जिस प्रकार दोनों पक्ष के लोगों ने फैसले का सम्मान किया है। वह तारीफ के लायक है। आपसी भाईचारे को बनाएं रखना है।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सत्ता और विपक्ष के नेताओं ने की सराहना,

भाजपा नेता जयशंक सिन्हा ने कहा कि राम मंदिर निर्माण को लेकर जो फैसला सुप्रीम कोर्ट ने दिया है। वह अपने आप में ही एकता की मिसाल कायम करने वाला है। लिहाजा, अब समाज के सभी वर्ग फैसले का सम्मान करें। क्योंकि दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद फैसला दिया गया है।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं  फेसबुक पेज से….

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे  YouTube चैनल पर