उदीयमान सूर्य और छठि मईया को अर्घ्य देने के साथ संपन्न हुआ लोकआस्था और सूर्योपासना का महापर्व छठ
गिरिडीह झारखंड टॉप-न्यूज़ धर्म

उदीयमान सूर्य और छठि मईया को अर्घ्य देने के साथ संपन्न हुआ लोकआस्था और सूर्योपासना का महापर्व छठ

जिला मुख्यालय के तमाम छठ घाटों में उमड़ी व्रतियों की भीड़

पौ फटने से पहले छठ घाटों में जुटनी शुरु हो गई थी व्रतियों की भीड़

त्योहार के प्रचलित गीत गूंज रहे थे तमाम छठ घाटों पर

गिरिडीहः उदीयमान भगवान सूर्य और छठ मां को अर्घ्य देने के साथ लोकआस्था और सूर्योपासना का छठ महापर्व रविवार को पूरे धूमधाम के साथ संपन्न हुआ। जिला मुख्यालय के हर छोटे-बड़े छठ घाटों के साथ तालाबों में व्रतियों और श्रद्धालुओं की भीड़ जुटी। पौ फटने से पहले डाला लिए श्रद्धालुओं की भीड़ छठ घाटों में पहुंचनी शुरु हो गई थी। छठ घाटों के साथ शहर के चौक-चौराहों पर बज रहे त्योहार के लोकगीत भी व्रतियों और श्रद्धालुओं के कानों में मिश्री घोल रहे थे। मौके पर बज रहे उगि है सूरुज देव,  दोनों कर जोडवा, अरग के रे बेरवा, पूजन के रे बेरवा…. ब्रहा, विष्णु-महेश की लाडली छठि मईया…. जैसे प्रचलित गीत से पूरा माहौल भक्तिमय रहा। हर एक श्रद्धालु और व्रतियों में छठ पूजा को लेकर उत्साह नजर आया। जिला मुख्यालय के छठ घाटों में अरगाघाट, शिवशक्ति छठ घाट, सांई घाट, आम घाट, दीनदयाल छठ घाटों, शास्त्री नगर समेत डेढ़ दर्जन से अधिक छठ घाटों में व्रतियों की लाखों भीड़ जुटी। इस दौरान शहर के शिवशक्ति छठ घाट की सजावट सबसे अधिक आकर्षक नजर आई जहां लाईटों की भव्य सजावट देख व्रतियों की भीड़ मंत्रमुग्ध रही।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे  YouTube चैनल पर

उदीयमान सूर्य और छठि मईया को अर्घ्य देने के साथ संपन्न हुआ लोकआस्था और सूर्योपासना का महापर्व छठ

आस्था व श्रद्धाभाव के इस पवित्रता भरे महापर्व में हर कोई भक्तिसागर में डुबकी लगाता नजर आया। सूर्य के उदय होने के साथ ही व्रतियों की भीड़ ने मौके पर फल और पूजन सामग्री से भरे डाला को परिक्रमा कर दूध व जल से अर्घ्य देना शुरु किया। कमोवेश, छठ घाटों में उमड़ी महिलाओं से लेकर वृद्धों और युवक-युवतियों की भीड़ ने अटूट आस्था के साथ छठि मईया और उदीयमान सूर्य को अर्घ्य देने के साथ ही छठ मईया व भगवान सूर्य से सुख-समृद्धि और निरोगी काया का आशीर्वाद मांगा। इस दौरान अरगाघाट समेत आधा दर्जन छठ घाटों में विहिप, छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् समेत मारवाड़ी युवा मंच की और से व्रतियों के बीच निःशुल्क वितरण की व्यवस्था किया गया था। जहां दूध लेने के लिए काफी संख्या में व्रतियों की भीड़ लगी रही। इधर पूजा-अर्चना के बाद व्रतियों ने त्योहार के अन्य अनुष्ठान को पूरे विधी-विधान के साथ संपन्न किया। जिसमें व्रतियों ने मौके पर सुहागिनों को जहां सिंदूर लगाई, वहीं सुहागिनें भी व्रती के पांव छूकर आशीर्वाद लेने के लिए आतुर रही। वहीं हर एक श्रद्धालु भी व्रती से आशीर्वाद लेने के लिए आतुर दिखें। पूजा-अर्चना के बाद ही व्रती से त्योहार का प्रसाद लेने के लिए छठ घाटों में श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रही।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं  फेसबुक पेज से….