पूजा हत्याकांड मामले में वांरट के बाद भी पुलिस सास को नहीं कर रही है गिरफ्तार
गिरिडीह झारखंड

पूजा हत्याकांड मामले में वांरट के बाद भी पुलिस सास को नहीं कर रही है गिरफ्ता

हत्याकांड में नामजद अभियुक्त है सास मीना देवी, ससुर और पति को भेजा जा चुका है जेल

परिजनों को नहीं मिलने की बात कह टालमटोल कर रहे थाना प्रभारी

गिरिडीह। विवाहिता की हत्या के आरोपी सास मीना देवी के खिलाफ कोर्ट से गिरफ्तारी वांरट जारी होने के बाद भी गिरिडीह की देवरी पुलिस सिर्फ इसलिए चुप है कि वह नामजद अभियुक्त को तलाश नहीं पा रही है। हास्यास्पद यह भी है कि इसी पूजा हत्याकांड में देवरी पुलिस मृतिका के पति अजय सिंह और ससुर अंग्रेज सिंह को घर से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। जबकि मृतिका पूजा की सास देवरी पुलिस को खोजे नहीं मिल रही। हास्यास्पद यह भी कि मामूली मामलों में किसी नामजद अभियुक्त को दबोचने के लिए पुलिस जब उसके परिजनों को प्रताड़ित करना शुरु करती है, तो नामजद अभियुक्त पुलिस के हत्थे चढ़ जाते है। लेकिन देवरी पुलिस पूजा हत्याकांड की तीसरी अभियुक्त को यह कहकर भी नहीं गिरफ्तार कर रही है उसके पास महिला पुलिस जवान नहीं है।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

पत्रकार को उल्टे खोजने को कह रहे है थाना प्रभारी

बहरहाल, हत्याकांड जैसे गंभीर मामले में देवरी पुलिस के दो चरित्र वाले चेहरे के कारण तीसरी अभियुक्त खुलेआम घूम रही है। मामले को लेकर जब सीधी नजर के संवाददाता ने देवरी थाना प्रभारी रौशन भेंगरा से संपर्क किया तो थाना प्रभारी उल्टे पत्रकार को ही आरोपी महिला को तलाश की नसीहत देकर पुलिस को सौंपने की बात कह डाला। ऐसे में समझा जा सकता है कि हत्याकांड जैसे गंभीर मामलों के अभियुक्तों की गिरफ्तारी को लेकर जिस तरह से वरीय अधिकारियों का सख्त निर्देश रहता है। उन निर्देशों का पालन एक थाना के थाना प्रभारी किस हद तक कर रहे है। इसका अंदाजा स्वयं लगाया जा सकता है।

दहेज की मांग को लेकर 22 अक्टूबर को ससुराल वालों ने की थी पूजा की हत्या

गौरतलब है कि डहरु राय की बेटी पूजा देवी की शादी अंग्रेज सिंह के बेटे और देवरी निवासी अजय सिंह से हुआ था। जिसमें एक बाईक की मांग को लेकर अजय सिंह, मीना देवी, अंग्रेज सिंह समेत कई लोगों ने पूजा की हत्या कर दिया। हत्या के बाद मृतिका के पिता ने देवरी थाना में आवेदन देकर इन तीनों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कराया था। जिसमें थाना कांड संख्या 168/18 में सास मीना देवी, ससुर अंग्रेज सिंह और पति अजय सिंह को नामजद अभियुक्त बनाया था। जिसमें पति और ससुर को जेल भेज दिया गया। लेकिन सास अब भी घर में बेखौफ घूम रही है।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं  फेसबुक पेज से….