सरकार के गलत नीतियों के खिलाफ माले ने प्रखंड मुख्यालय के समक्ष दिया धरना
जमुआ झारखंड

सरकार के गलत नीतियों के खिलाफ माले ने प्रखंड मुख्यालय के समक्ष दिया धरना

गरीबों को नहीं मिल रहा पेशंन सहित विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ

जमुआ(गिरिडीह)। सरकार के गलत नीतियों के खिलाफ मंगलवार को जमुआ में भाकपा(माले) ने रैली निकालकर प्रखंड कार्यालय के मुख्य द्वार पर धरना दिया। धरना के दौरान माले नेताओं ने सरकारी योजनाओं से वंचित सैकंड़ो लाभार्थियों का राशनकार्ड, गैस, पेंशन, आवास आदि का आवेदन बीडीओ को सौंपा।

स्थानीय विधायक पर लगाया आरोप

धरना को सम्बोधित करते हुए जमुआ विस प्रभारी अशोक पासवान, प्रखंड सचिव विजय पांडेय, ऐपवा नेत्री मीना दास सहित अन्य माले नेताओं ने कहा कि सरकार विकास का चाहे जितना भी ढिंढ़ोरा पीट ले पर वास्तविकता यह है कि गरीब ग्रामीण अब भी राशनकार्ड, सरकारी आवास, गैस कनेक्शन, पेंशन, शौचालय आदि योजनाओं से वंचित हैं। इस दौरान माले नेताओं ने स्थानीय विधायक को भी आड़े हाथों लेते हुए अपने परिजनों व ठिकेदारों का विकास करने का आरोप लगाया। कारोडीह में एक ही तालाब का चार बार निर्माण कराकर विधायक मद की राशि का खुले तौर पर बंदरबांट कर लिया गया। अपने बेटे को संवेदक बनाकर विधायक दोनों हांथों से विकास मद की राशि हड़पते रहे।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

विधायक ने नहीं उठाया जमुआ को अनुमंडल बनाने की मांग

कहा कि जमुआ को अनुमंडल बनाने की मांग हो अथवा नवडीहा, हीरोडीह और द्वारपहरी को प्रखंड बनाने की मांग हो विधायक ने इन मांगों की ओर कभी भी ध्यान नहीं दिया। जमुआ पीएचसी में एक अदद महिला चिकित्सक की तैनाती कराने में भी विधायक विफल रहे। अतिव्यस्त जमुआ चैक में एक शौचालय भी इस विधायक के कार्यकाल में नहीं बन सका। ऐसी स्थिति में विकास की बात करने वाले विधायक और राज्य के मुख्यमंत्री की असलियत को जनता अच्छी तरह समझ रही है।

कई लोग थे मौजूद

धरना को माले के रीतलाल प्रसाद वर्मा, असगर अली, ललन यादव, रंजीत यादव, शंकर मोदी, बाबूलाल मंडल, अरुण वर्मा, राजेश दास, सुनील रविदास, बिशेश्वर यादव, रिझो महतो, बाबूलाल वर्मा, सुरेंद्र राय, मालती देवी, चमेली देवी, एनुल अंसारी समेत कई अन्य उपस्थित थे।

 

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….