कम्युनिटी हेल्थ प्रोवाइडर की मांग को लेकर सीएम को सौंपा ज्ञापन
जमुआ झारखंड

कम्युनिटी हेल्थ प्रोवाइडर की मांग को लेकर सीएम को सौंपा ज्ञापन

जमुआ(गिरिडीह) : पंजीकृत चिकित्सकों को प्रशिक्षण के माध्यम से प्राथमिक उपचार करने के लिए एलोपेथीक पद्धति में कम्युनिटी हेल्थ प्रोवाइडर के अनुसार प्राइवेट व सरकारी सेक्टर में प्रैक्टिस करने की मान्यता प्रदान करने की मांग को लेकर रविवार को इंडियन मेडिकल प्रैक्टिसनर फेडरेशन ने रविवार को मुख्यमंत्री रघुवर दास को ज्ञापन सौंपा। मुख्यमंत्री के जोहार जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान फेडरेशन के सदस्यों ने जमुआ के रेम्बा मोड़ में सभा के दौरान मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

डॉक्टरों की कमी के कारण ग्रामीणों की हो रही है असमय मौत

मुख्यमंत्री को दिए ज्ञापन में फेडरेशन ने कहा है कि वर्तमान में देशभर में डॉक्टरों की भारी कमी है। चिकित्सकों की कमी के चलते आये दिन लोग विभिन्न बिमारियों से ग्रस्त होकर काल के गाल में समा रहें हैं। ग्रामीण क्षेत्र में डॉक्टरों की कमी की वजह से स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध नही हो पा रही है। इसलिए पंजीकृत चिकित्सकों को प्रशिक्षण के माध्यम से प्राथमिक उपचार करने के लिए एलोपेथीक पद्धति में कम्युनिटी हेल्थ प्रोवाइडर के हिसाब से प्राइवेट एवं सरकारी सेक्टर में प्रैक्टिस करने की मान्यता प्रदान की जानी चाहिए। कहा है कि नेशनल मेडिकल कमीशन बिल के अन्तर्गरत प्राथमिक चिकित्सकों के लिए कम्युनिटी पर एक प्लेटफार्म या बोर्ड का निर्माण किया जाए। साथ ही एलोपैथिक पद्धति या मॉर्डन मेडिसिन के अन्तर्गत असिस्टेंट चिकित्सक  के रूप में प्राथमिक उपचार के लिए कम्युनिटी हेल्थ प्रोवाइडर की व्यवस्था होनी चाहिए।

ये थे मौजूद

इस दौरान डॉ संजय यादव, मंजूर अंसारी, डॉ महफूज़ अंसारी, डॉ संतस्वरूप वर्णवाल, अर्जुन कुमार, बसीर अंसारी, मनोज यादव, जयकृष्ण सिंह सहित अन्य उपस्थित थे।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….