विशेष : पूर्व विधायक को क्यों है अपने ही पुत्रों से जान का खतरा, जानिए पूरी सच्चाई……

विशेष : पूर्व विधायक को क्यों है अपने ही पुत्रों से जान का खतरा, जानिए पूरी सच्चाई......

नगर थाना लिखित शिकायत देकर की सुरक्षा की मांग

गिरिडीह। गिरिडीह के पूर्व विधायक ओमीलाल आजाद ने अपने चार पुत्रों के खिलाफ नगर थाना में प्राथमिकी दर्ज कराते हुए उनके उपर कि सारी संपत्ति चारों बेटे अपने नाम लिखने के लिए धमकी देने का आरोप लगाया है। अपनी संपत्ति को बेटे व बेटियों के बीच बराबर हिस्से में बांटने की तैयारी कर रहे भाकपा के वरिष्ठ नेता ओमीलाल आजाद को अपने बेटों से ही जान का खतरा है। उन्होंने नगर थाने में अपने चारों पुत्रों अशोक कुमार, संतोष कुमार, अरुण कुमार व रतन कुमार के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है। गद्दी मोहल्ला में रहने वाले आजाद ने पुलिस से जानमाल की हिफाजत की गुहार लगाई है। आजाद भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी से 1985-1990 तक गिरिडीह के विधायक रहे हैं।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

संपत्ति को चार बेटों व बेटियों के बीच बांटना चाहते है आजाद

बताया है कि वे अपनी संपत्ति चार बेटों व चार बेटियों के बीच बांटना चाहते हैं। इसकी जानकारी मिलते ही चारों बेटे प्रताड़ित कर रहे हैं। पिछले साल अक्टूबर माह में उन्हें तीन दिनों तक कमरे में कैद रखा और सारा सामान छीन लिया। सारी संपति चारों बेटों के नाम नहीं करने पर जान से मारने की धमकी भी दी है। पिता को कैद में रखने की सूचना जब जमशेदपुर में रहनेवाली बेटी को मिली तो उसने नगर पुलिस को सूचना दी। पिछले साल 18 अक्टूबर को बेटी व दामाद पुलिस के पास गए। इसके बाद उन्हें कैद से मुक्त कराया गया। इसके बाद वे अपनी चारों बेटियों के पास बारी-बारी से रहते हैं।

बेटी के घर रह रहे है आजाद

82 वर्षीय आजाद अपनी बेटी माधुरी देवी के साथ चकाई बाजार में रह रहे हैं। उन्होंने बताया कि जेवरात, कीमती सामान व जमीन संबंधी कागजात की फाइल आलमारी में रखी है। बेटे अब भी संपति अपने नाम करने के लिए उन पर दबाव दे रहे हैं और जान मारने की धमकी भी दे रहे हैं। गद्दी मोहल्ला में उनका मकान व दुकान है। दुकान किराए पर लगी है। किराया बेटे जबरन दुकानदार से ले लेते हैं। वे अपने बेटों के डर से अपने मकान में नहीं रह पा रहे हैं। उन्होंने आशंका जाहिर की है कि गिरिडीह जाने पर उन्हें पकड़कर कैद कर लिया जाएगा और उन्ही हत्या कर दी जा सकती है. नगर थाना पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज करते हुए मामले के अनुसंधान की जिम्मेवारी एएसआई प्रदीप कुमार सिंह को सौंपी है।

जिस संपत्ति को लेकर विवाद है वह उनकी है: बेटा

इधर ओमीलाल आजाद की बेटी माधुरी देवी का कहना है कि उनके पिता को लगातार प्रताड़ित किया जा रहा है। इसलिए अपने पिता को चकाई स्थित अपने घर ले आयी है। वहीं ओमीलाल आजाद के बड़े बेटे का कहना है कि जिस संपत्ति को लेकर ये सारा फसाद है, दरअसल यह सम्पति उनकी है।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….