गिरिडीह के शराब सिंडिकेट की सूचना पर अवैध धंधेबाजों के खिलाफ हो रही है कार्रवाई

गिरिडीह के शराब सिंडिकेट की सूचना पर अवैध धंधेबाजों के खिलाफ हो रही है कार्रवाई

अवैध धंधेबाजों के खिलाफ मिल रही सफलता से उत्साहित है उत्पाद और पुलिस विभाग

मनोज कुमार पिंटू

गिरिडीह। शराब के अवैध कारोबारियों के खिलाफ उत्पाद विभाग और गिरिडीह पुलिस को जिस प्रकार लगातार सफलता मिल रही है। उससे दोनों ही विभाग के अधिकारी उत्साहित है। शुक्रवार को भी उत्पाद विभाग और धनवार पुलिस ने धनवार थाना क्षेत्र के बदडीहा गांव में छापेमारी कर बड़े पैमाने पर 40 लाख रुपये मूल्य के 560 पेटी अवैध शराब के स्टाॅक को जब्त किया है। जिससे साफ जाहिर है कि शराब के कुछ कारोबारियों का सिडिकेंट ही पुलिस व उत्पाद विभाग का नेटवर्क बनकर अवैध शराब के धंधेबाजों की सूचना दे रहे है।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

सिंडिकेट के सदस्य देते है सटिक जानकारी

सिंडिकेंट के सदस्यों की सूचना भी इतनी स्टीक है कि अब तक जितने धंधेबाजों के खिलाफ उत्पाद विभाग और पुलिस को जानकारी दी गई है, वह काफी पुख्ता जानकारी रही है।  जिसकी बानगी गुरुवार की मध्य रात्रि से लेकर शुक्रवार की सुबह तक धनवार के बदडीहा गांव में देखने को मिली जहां सुनील साहू के पाॅल्ट्री फार्म में संचालित अवैध शराब के अड्डे पर पुलिस और उत्पाद विभाग ने ज्वाईंट कार्रवाई करते हुए 40 लाख रुपये मूल्य के अवैध शराब के स्टाॅक के साथ बड़े पैमाने पर नकली शराब तैयार करने वाले स्प्रिट को बरामद किया गया है।

कई मामलों में पुलिस और उत्पाद विभाग को मिल चुकी है सफलता

अगर सफलता की बात करें तो सदर एसडीपीओ जीतवाहन उरांव के नेत्तृव में ताराटांड़ थाना क्षेत्र के बदगुंदा गांव में ही महादेव सौरेन के घर में छापेमारी कर एसडीपीओ उरांव द्वारा करीब सौ पेटी अवैध शराब के स्टाॅक व मुफ्फसिल थाना क्षेत्र के सिहोडीह-सिरसिया स्थित रामबाबू सिंह के खाली प्लाॅट में छापेमारी कर पांच सौ से अधिक शराब की अवैध पेटियों को जब्त करना है। इसी प्रकार चैथी सफलता पीरटांड़ पुलिस को दस दिनों पहले मिली, जब पीरटांड पुलिस ने शराब के पेटियों सेे लोड मालवाहक वाहन टाटा मैजिक को उस वक्त जब्त किया। जब टाटा मैजिक बिहार के समस्तीपुर जा रहा था।

मुफ्फसिल क्षेत्र में भी दर्ज की गई है प्राथमिकी

शराब कारोबारियों के सिडिकेंट से मिली गुप्त सूचना के आधार पर मुफ्फसिल थाना पुलिस ने दो सप्ताह पहले इंपिरियल ब्लू ब्रांड के 70 पेटियों से लदे सवारी वाहन को सिहोडीह से जब्त किया था। जिसमें मुफ्फसिल थाना पुलिस ने वाहन चालक को तो जेल भेज दिया था। लेकिन शहर के अरगाघाट निवासी शैलेश पांडेय को मुक्त कर दिया था। हालांकि खबरें जब सुर्खियों में आई तो मुफ्फसिल थाना पुलिस ने शैलेन्द्र पांडेय समेत दो के खिलाफ केस दर्ज कर लिया था। बहरहाल, शराब कारोबारियों के सिंडिकेंट के सदस्यों से मिल रहे सूचना के आधार पर उत्पाद विभाग और गिरिडीह पुलिस को मिल रही सफलता से दोनों विभाग फिलहाल उत्साहित नजर आ रहे है।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….