भेलवाघाटी से कुख्यात नक्सली गिरफ्तार, कई वारदातों में था शामिल

गुप्त सूचना के आधार पर भेलवाघाटी और चकाई के सीमावर्ती क्षेत्र से हुई गिरफ्तारी

गिरिडीह : गिरिडीह के भेलवाघाटी थाना पुलिस को मंगलवार की मघ्य रात्रि बड़ी सफलता मिली है। गुप्त सूचना पर बिहार के जमुई की चकाई थाना पुलिस और गिरिडीह के भेलवाघाटी थाना प्रभारी मो जलालुद्दीन ने भेलवाघाटी और चकाई थाना के सीमावर्ती गांव गादी-बिल्ली से बाइक पर भाग रहे 3 साल से भगोड़े नक्सली 50  वर्षीय तेजो मंडल को दबोचने में सफ़लता पाई। पुलिस सूत्रों की माने तो तेजो मंडल के साथ संदेह के आधार पर एक और युवक को भी पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है। हालांकि कारू के नक्सली होने की पुष्टि अभी तक ना तो गिरिडीह पुलिस और ना ही चकाई पुलिस ने की है। फिलहाल दोनो को चकाई पुलिस अब अपने थाना ले जा कर पूछताछ कर रही है।

 

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

मुखिया पुत्र सुभाष की हत्या सहित हत्या के अन्य मामलों में है आरोपी

 

पुलिस सूत्रों की माने तो तेजो मंडल के खिलाफ भेलवाघाटी थाना में साल 2017 में मुखिया पुत्र सुभाष बरनवाल की हत्या करने के मामले में काण्ड संख्या 2/17 और चकाई थाना में थाना के चौकीदार की हत्या करने के मामले में हत्या का केस 97/16 दर्ज है। दोनो से पूछताछ करने की पुष्टि बिहार  पुलिस ने भी की है। तेजो मंडल गिरिडीह और जमुई का हार्डकोर नक्सली बताया जा रहा है। जमुई के जोनल कमांडर सिद्धो कोड़ा दस्ते का तेजो मंडल सबसे तेज नक्सली है। वहीँ जमुई के पिंटू राणा, सुरंग यादव के साथ सिद्धो कोड़ा का यह दायां हाथ बताया जा रहा है। पुलिस सूत्रों की मानें तो मंगलवार देर रात भेलवाघाटी पुलिस को गुप्त सूचना मिली। इसके बाद गिरिडीह के भेलवाघाटी पुलिस ने चकाई पुलिस और गिरिडीह और जमुई सी आर पी एफ  के साथ जॉइंट ऑपरेशन चलाकर भेलवाघाटी और चकाई के सीमावर्ती गांव गादी-बिल्ली में सर्च ऑपरेशन शुरू किया। सर्च ऑपरेशन के दौरान पुलिस ने तेजो और एक अन्य को एक बाइक के साथ दबोचने में सफलता पाई। पुलिस सूत्रों की माने तो पुलिस को देखते ही तेजो ने बाइक से उतर कर भागने का प्रयास किया। लेकिन सुरक्षा बलों के जवानों ने तेजो को खदेड़ कर दबोच लिया।

 

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….