कोयला उद्योग में विदेशी पूंजी निवेश के खिलाफ यूनियन का विरोध प्रदर्शन 
गिरिडीह झारखंड

कोयला उद्योग में विदेशी पूंजी निवेश के खिलाफ यूनियन का विरोध प्रदर्शन 

सीसीएल में बंद कराया कार्य, सरकार के खिलाफ जमकर की नारेबाजी

गिरिडीह। कोयला उद्योग में केन्द्र सरकार द्वारा प्रत्यक्ष तौर पर विदेशी पूंजी निवेश की मंजूरी दिए जाने से आक्रोशित कोल कर्मचारी संगठन के कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को गिरिडीह सीसीएल में प्रदर्शन करने के साथ कोयला उत्पाद ठप कर दिया। जिससे गिरिडीह सीसीएल को करीब पांच करोड़ का नुकसान उठाना पड़ा। सीसीएल के कबरीबाद खदान और ओपेन काॅस्ट खदान के साथ वर्कशाॅप में सारे काम ठप कर रहे। इस दौरान राष्ट्रीय कोलियरी मजदूर यूनियन इंटक के साथ यूनाईटेड कोल वर्कस यूनियन, कोल फील्ड मजदूर यूनियन, एजेएसएस, झारखंड कोलियरी मजदूर यूनियन समेत करीब आधा दर्जन मजदूर यूनियन के कार्यकर्ता व नेता सुबह सात बजे से ही सीसीएल के कबरीबाद व ओपेन कास्ट खदान में पहुंचकर केन्द्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

एक बार फीर देश को गुलाम बनाने की दिशा मे सरकार कर रही है कार्य

कोयला उद्योग में विदेशी पूंजी निवेश के खिलाफ यूनियन का विरोध प्रदर्शन 

प्रदर्शन में शामिल कांग्रेस नेता डाॅ सरफराज अहमद, मिथिलेश यादव, ऋषिकेश मिश्रा, अजीत कुमार, गुलाब दास, राजेश यादव, राजेश सिन्हा, महेन्द्र यादव, दिलीप मंडल, नरेश कोल, एनपी सिंह बुल्लू, अमित यादव, राजेश सिंह समेत कई यूनियन संगठन के नेताओं ने मोर्चा संभालते हुए दोनों खदानों में प्रदर्शन के बाद सीसीएल के पावर सब स्टेशन व वर्कशाॅप के कार्य को भी ठप करा दिया। इस दौरान उन्होंने केन्द्र सरकार के गलत नीतियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए कहा कि सरकार भारत को एक बार फीर गुलाम बनाने की दिशा में कार्य कर रही है। कहा कि सरकार की इस मंशा को किसी भी हालत में पूता नहीं होने दिया जायेगा।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….