जलशक्ति अभियान के माध्यम से लोगों को जल का महत्व समझाने की जरुरत: डीसी

जलशक्ति अभियान के माध्यम से लोगों को जल का महत्व समझाने की जरुरत: डीसी

नगर भवन में जलशक्ति अभियान पर शुरु हुआ दो दिवसीय कार्यशाला

गिरिडीह। भूमि संरक्षण विभाग और जलछाजन प्रकोष्ठ के संयुक्त तत्वाधान में शुक्रवार को शहर के नगर भवन में दो दिवसीय जलशक्ति अभियान पर आयोजित कार्यशाला का उद्घाटन डीसी राहुल सिन्हा, डीडीसी मुंकुद दास और डीपीआरओ रश्मि सिन्हा ने संयुक्त रुप से दीप जलाकर की। कार्यशाला में मौजूद पंचायत प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए डीसी सिन्हा ने कहा कि जलशक्ति अभियान को लेकर लोगों को अब जागरुक करने की जरुरत है। क्योंकि जागरुक किए बगैर जल के महत्व को लोग समझ नहीं सकेगें। लोगों को यह बताना जरुरी है कि जल है तो कल है। यानि आने वाली पीढ़ी के लिए जलसंकट परेशानी नहीं बनें, इसके प्रति लोगों को जागरुक करने की जरुरत है।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

जिले की समस्याओं को दूर करने की जिम्मेवारी सभी की

जलशक्ति अभियान के माध्यम से लोगों को जल का महत्व समझाने की जरुरत: डीसी

कार्यशाला के दौरान डीसी ने यह भी कहा कि इस जिलें में कुछ समस्या है, जिसे दूर करने का दायित्व सबों का है। वैसे संबोधन के क्रम में डीसी ने मुखिया और सरकारी सेवकों के बीच अक्सर आपसी नुक्ताचीनी को गलत ठहराते हुए कहा कि यह एक तरह का बचकाना हरकत है। जिसका नुकसान सिर्फ समाज को ही होगा। सरकारी सेवक और मुखिया को ऐसे रवैये से बचने की जरुरत है।

जलशक्ति के महत्व पर डाला प्रकाश

कार्यशाला को डीडीसी मुंकुद दास के अलावे भूमि संरक्षण विभाग के तकनीकि विशेषज्ञ दिलीप देव ने संबोधित करते हुए जलशक्ति के महत्व पर प्रकाश डाला। कार्यशाला में सदर एसडीएम राजेश प्रजापति, भूमि संरक्षण पदाधिकारी दिनेश मांझी के अलावे मत्सय पदाधिकारी रीतू रंजन के अलावे जिला पर्षद के जिला अभियंता भोला राम, मुखिया भागीरथ मंडल, महेन्द्र वर्मा समेत कई मुखिया मौजूद थे।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….