रेलवे ने गिरिडीह में चलाया अतिक्रमण हटाओ अभियान
गिरिडीह झारखंड

रेलवे ने गिरिडीह में चलाया अतिक्रमण हटाओ अभियान

गिरिडीह स्टेशन के प्लाॅट को अवैध कब्जाधारियों से कराया मुक्त, एक माह पहले दिया था नोटिस

गिरिडीह। यार्ड एक्सटेंशन के निर्माण को लेकर गिरिडीह रेलवे स्टेशन में सालों से रेलवे की जमीन को अतिक्रमण कर रहे लोगों से गुरुवार को रेलवे की जमीन को अतिक्रमण मुक्त कराया गया। मधुपूर रेलवे के सहायक अभियंता गौतम पाठक के साथ गिरिडीह स्टेशन प्रबंधक मनोज बरनवाल ने रेलवे सुरक्षा बल और नगर थाना पुलिस के सहयोग से अतिक्रमणकारियों के कब्जे वाले हिस्से को तोड़ा।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

गैराज के साथ तबेला को किया गया जमींदोज

रेलवे ने गिरिडीह में चलाया अतिक्रमण हटाओ अभियान

रेलवे के प्लाॅट पर किसी ने तबेला खोल रखा था, तो किसी ने गैराज ही बना रखा था। जबकि जमीन में कुछ लोगों ने झोपड़ीनुमा घर भी बना रखा था। जिसे रेलवे के अधिकारियों ने जेसीबी से हर अतिक्रमणकारियों के बनाएं गए अवैध कब्जे को जमीदोंज कर दिया। मधुपूर के सहायक अभियंता गौतम पाठक आरपीएफ के पदाधिकारियों व जवानों के साथ अचानक सुबह 11 बजे स्टेशन पहुंचे और जेसीबी से रेलवे की कराया। बताया जाता है कि रेलवे ने एक माह पूर्व ही अतिक्रमणकारियों को जगह खाली करने के लिए नोटिस दिया गया था।

अंबेडकर डेली मार्केट के पिछले हिस्से से हटाया गया अतिक्रमण

इधर रेलवे द्वारा शुरु किए गए अभियान के बाद अबेंडकर डेली मार्केट से सटे जलमीनार के पिछले हिस्से में सालों से अवैध कब्जा करने वाले अतिक्रमणकारियों के गैराज, तबेला को झोपड़ीनुमा घरों को ढहाना शुरु किया गया। रेलवे के द्वारा अचानक शुरु किए गए अभियान के बाद अतिक्रमणकारी खुद भी अपने समानों को सुरक्षित करने के लिए अतिक्रमण हटाना  शुरु कर दिया। इस दौरान कोई अपने काॅरकेट हटाता नजर आया, तो कोई अपने समानों को सुरक्षित करने के लिए दीवार तोड़ता दिखा। हालांकि अभियान चलाने के दौरान रुक-रुक हो रही बारिश से रेलवे के पदाधिकारियों को भी परेशानी उठानी पड़ी।

तीन नए रेल लाईन बिछाकर किया जाएगा यार्ड एक्सटेेंशन का निर्माण

मौके पर उपस्थित रेलवे के सहायक अभियंता गौतम ने बताया कि गिरिडीह स्टेशन में यार्ड का एक्सटेंशन किया जाना है। जिसमें तीन नए रेलवे लाईनों का निर्माण किया जाएगा। जो स्टेशन स्थित जलमीनार तक पहुंचेगा। ऐसे में जलमीनार के पिछले हिस्से तक रेलवे के जमीन को अतिक्रमण मुक्त किया जाना है।

स्थानीय लोगों में जगी कुछ बेहतर होने की उम्मीद

इधर रेलवे द्वारा अतिक्रमण हटाओं अभियान की अचानक शुरूआत किये जाने के बाद मौके पर काफी संख्या में स्थानीय लोगों की भीड़ जमा हो गई। मौके पर पहुंचे झामुमो नेता इरशाद अहमद वारिश ने कहा कि सालों से स्टेशन की सूरत जस की तस बनी हुई थी। अब जब अतिक्रमण हटाना शुरु किया गया है, तो लगता है कि गिरिडीह में रेलवे को लेकर कुछ बेहतर होना है। जिसकी उम्मीद भी लोग किए हुए है।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….