हत्याकांड में शामिल तीन अपराधी चढ़े पुलिस के हत्थे
गिरिडीह झारखंड टॉप-न्यूज़

हत्याकांड में शामिल तीन अपराधी चढ़े पुलिस के हत्थे

ऑटो लूटने के मकसद से हत्या की वारदात को दिया था अंजाम

गिरिडीह। मुफ्फसिल थाना क्षेत्र के करमाटांड़ जंगल में हुई हत्या कांड का खुलासा मुफ्फसिल पुलिस ने कर लिया है। पुलिस ने हत्या में शामिल तीन आरोपियों को दबोच लिया है। रविवार को सदर एसडीपीओ जीतबाहन उरांव ने प्रेस वार्ता कर पूरे मामले का खुलासा किया। एसडीपीओ ने बताया कि मृतक की हत्या उसका ऑटो लूटने के मकसद से किया गया था। मुफ्फसिल पुलिस द्वारा तीनो गिरफ्तार आरोपियों की निशानदेही पर मृतक का ऑटो भी बरामद कर लिया है। गिरफ्तार आरोपियों में मुफ्फसिल थाना क्षेत्र के जगपतारी निवासी सद्दाम अंसारी पचम्बा थाना क्षेत्र के बोडो निवासी निसार अंसारी उर्फ मिटकु और बोडो का ही रहने वाला नुनुआ उर्फ सूरज राय शामिल है।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

देवघर में चला रहा था मृतक का ऑटो

एसडीपीओ ने बताया कि मृतक तिलक महतो बेंगाबाद थाना क्षेत्र के मोतिलेदा का रहने वाला था और वह ऑटो रिक्शा चलाने का काम करता था। हत्याकांड में शामिल तीनों आरोपियों ने मरीज को अस्पताल ले जाने के बहाने से तिलक को करमाटांड़ जंगल के पास बुलाया था। जिसके बाद तीनों में मिलकर तिलक महतो की हत्या धारदार हथियार से कर के शव को जंगल मे फेंक दिया था। इस दौरान आरोपी सद्दाम ने हत्या में प्रयुक्त छुरा और खून से सना अपना टीशर्ट भी जंगल मे ही छोड़ दिया था। जिसके बाद सभी मृतक का ऑटो लेकर वहां से फरार हो गए और देवघर में ले जाकर छुपा कर रखा था। बाद में ऑटो का कायाकल्प कर उसे चला रहा था।

सद्दाम की निशानदेही पर हुआ अन्य आरोपियों की गिरफ़्तारी

करमाटांड़ जंगल में मृतक का गला कटा शव मिलने के बाद पुलिस लगातार मामले की जांच पड़ताल में जुटी हुई थी। बाद में शव का शिनाख्त तिलक महतो के रूप में हुई तो पुलिस ने जांच पड़ताल तेज की। शनिवार को मुफ्फसिल पुलिस ने गिरिडीह शहर के स्वर्ण चित्र मंदिर के समीप से आरोपी सद्दाम को ऑटो के साथ दबोचने में सफलता पाई। जिसके बाद उसकी निशानदेही पर अन्य दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….