स्थानांतरण के बावजूद सदर अस्पताल में जमे हैं कई अधिकारी व कर्मचारी

स्थानांतरण के बावजूद सदर अस्पताल में जमे हैं कई अधिकारी व कर्मचारी

8 अगस्त को ही होना था विरमित

गिरिडीह : सदर अस्पताल में स्थानांतरण के बावजूद कई अधिकारी जमे है। विदित हो कि अभियान निदेशक द्वारा एक अगस्त को बड़े पैमाने पर राज्य के डीपीएम, जिला लेखा प्रबंधक व सहिया कोआर्डिनेटर का तबादला किया गया। अभियान निदेशक द्वारा तैयार सूची में गिरिडीह डीपीएम राजवद्र्वन प्रसाद का तबादला गिरिडीह से साहेबगंज, जिला लेखा प्रबंधक सुबोध चन्द्र महतो का धनबाद व सहिया कोआर्डिनेटर मनोज महतो का गोडडा कर दिया गया है। एक अगस्त को जारी पत्र में अभियान निदेशक ने निर्देश दिया है कि नियंत्री पदाधिकारी स्थानंतरित कर्मियों को 8 अगस्त तक निश्चित रूप से विरमित कर दें। निर्धारित तिथी तक विरमित नही होने की स्थिति में 9 अगस्त के पूर्वाहन से स्वतः विरमित समझे जाएगें। पत्र में स्थानांतरित कर्मियों को माह अगस्त का मानदेय नवपदस्थापन स्थान से दिया जाएगा। पर न नए अधिकारी गिरिडीह आए और न ही स्थानांतरित लोग यहां से खिसके।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

16 अगस्त को फिर निकाला गया आदेश

स्थानांतरण के बावजूद पूर्व के स्थान पर जमे अधिकारियों को पुनः अल्टीमेटम दिया गया है। अभियान निदेशक ने 16 अगस्त को जारी पत्र में उच्च न्यायालय में दर्ज याचिका का हवाला देते हुए नए स्थान पर योगदान का आदेश दिया है। जारी आदेश में निदेशक ने कहा है कि 20 अगस्त तक नवपदस्थापित स्थान पर योगदान दें अन्यथा नियमानुसार अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। पत्र में निदेशक ने सिविल सर्जन से 21 अगस्त को अनुपालन प्रतिवेदन की मांग की है। अब देखना है कि अभियान निदेशक के तल्ख तेवर के बावजूद स्थानांतरित अधिकारी नए स्थान पर योगदान देते है या आदेश की धज्जियां यूं ही उड़ती रहेगी। इस बावत सिविल सर्जन डा अवधेश कुमार सिन्हा ने कहा कि मामला राज्य स्तरीय है। कहा कि जो भी कार्रवाई होगी मुख्यालय से होगी। उन्होंने कहा कि मेरा काम मुख्यालय को वस्तुस्थिति की जानकारी देना है।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….