एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा की बैठक में कई विन्दूओं पर हुई चर्चा
जमुआ झारखंड

एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा की बैठक में कई विन्दूओं पर हुई चर्चा

कहा सरकार पारा शिक्षकों को कर रही है उपेक्षित

जमुआ(गिरिडीह)। एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा की एक बैठक शनिवार को जमुआ में हुई। बैठक की अध्यक्षता नारायण दास ने किया। जबकि संचालन दीपक कुमार ने किया। बैठक को संबोधित करते हुए मोर्चा के जिला अध्यक्ष नारायण महतो ने कहा कि 17 जनवरी को झारखण्ड सरकार के साथ पारा शिक्षकों के प्रतिनिधियों की वार्ता हुई और तय हुआ कि 90 दिनों के अंदर सेवाशर्त नियमावली बना कर स्थायी किया जायेगा। लेकिन अभी तक पूरा नही किया गया जो खेद की बात है। सरकार अभी भी चेते अन्यथा सरकार को इसका खमियाजा भुगतना पड़ेगा।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

पारा शिक्षकों के सब्र का इम्तिहान न ले सरकार

बेजनाथ मंडल ने कहा कि पारा शिक्षकों की सब्र की घड़ी समाप्त हो गई है, अब पारा शिक्षक आर पार की लड़ाई लड़ने के मुड में है। निर्णय यह भी हुआ की 22 अगस्त को मुनेश्वर सिंह सहादत दिवस प्रखण्ड मुख्यालय में मनाया जाएगा। बैठक के बाद जमुआ चैक में शिक्षा सचिव अमरेंद्र प्रताप सिंह का पुतला दहन किया गया। बैठक में मुख्य रूप से पवन सिन्हा, टेकचंद साव, भगीरथ पंडित, अजय वर्मा, मिथलेश कुमार, शौकत अंसारी, पुनिचंद मंडल, राजदेव हाजरा, मेहबूब अंसारी, मंजू कुमारी, सबिहा अनवरी, ज्योति वर्मा, नीलिमा वर्मा, भगीरथ वर्मा, राजकुमार दास सहित सैकड़ो पारा शिक्षक मौजूद थे।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….