राष्ट्रीय ओबीसी मोर्चा ने मनाया मंडल आयोग दिवस

राष्ट्रीय ओबीसी मोर्चा ने मनाया मंडल आयोग दिवस

ओबीसी के लिए 27 प्रतिशत आरक्षण लागू नहीं होने पर जताई नाराजगी

रांची। राष्ट्रीय ओबीसी मोर्चा हरमू स्थित आशीर्वाद कांप्लेक्स में मंगलवार को मंडल आयोग दिवस समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष राजेश कुमार गुप्ता, अखिल भारतीय चौरसिया वैश्य समाज के प्रदेश अध्यक्ष संजय चैरसिया, पाल महासभा के प्रदेश अध्यक्ष अवधेश पाल, अखिल भारतीय वैश्य महा सम्मेलन के वरीय उपाध्यक्ष वीरेंद्र साहू व छात्र नेता देवेंद्रनाथ महतो ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया। कार्यक्रम में ओबीसी के अंतर्गत आने वाले विभिन्न जाति समाज के लोगों ने शिरकत की।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

25 वर्ष के बाद भी धरातल पर लागू नहीं हो पाया मंडल आयोग: राजेश गुप्ता

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष राजेश कुमार गुप्ता ने कहा कि मंडल आयोग की अनुशंसा 13 अगस्त 1990 में वीपी सिंह सरकार ने अधिसूचना जारी कर किया था। आज मंडल आयोग कि 27 प्रतिशत आरक्षण की सिफारिश को लागू किए 25 वर्ष हो गए हैं लेकिन जिस परिकल्पना के तहत आयोग की अनुशंसा की गई थी वह जमीनी धरातल पर लागू नहीं हो पाया है। कहा कि केंद्र सरकार की नीति निर्णय व अमल प्रक्रिया के मुख्य भूमिका में 52 प्रतिशत आबादी वाला ओबीसी समुदाय कहीं नहीं है।

केंद्र सरकार के 89 सचिव, 93 अतिरिक्त सचिव, 570 उपसचिव व 1788 अवर सचिव में ओबीसी का प्रतिनिधित्व शून्य है। 2757 संयुक्त सचिव में ओबीसी का प्रतिनिधित्व सिर्फ 7 प्रतिशत है। वहीं 288 स्टाफिंग स्कीम के तहत निदेशक का प्रतिनिधित्व 13.86 प्रतिशत है। इसी तरह अन्य विभागों में भी 27 प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान लागू होने के बावजूद भी कहीं भी ओबीसी का प्रतिनिधित्व नहीं दिखता है।

पिछली सरकारों ने भी इसे जमीनी स्तर पर लागू करने की नहीं दिखाई गंभीरता

उन्होंने कहा कि पूर्व की केन्द्र व राज्य सरकारों में भी ओबीसी के हक और अधिकार को गंभीरता से नहीं लिया गया ओर न ही आरक्षण का लागू किया गया। कहा कि जब तक इस देश में सशक्त और पिछड़ों के हक अधिकार न्याय के प्रति सचेत नेता द्वारा पहल करने के बाद ही ओबीसी समुदाय को अधिकार व न्याय मिल सकता है। या फिर ओबीसी समुदाय गांव से लेकर शहर तक जागृत हो जाता है और सड़कों पर आंदोलित होता है तो अधिकार मिलने में देर नहीं होगी।

संगठित होकर सामाजिक दबाव बनाने पर दिया गया जोर

मौके पर चैरसिया समाज के प्रदेश अध्यक्ष संजय चैरसिया ने कहा कि राजनीति में सामाजिक दबाव बनाकर ही हासिल किया जा सकता है। वैश्य महासम्मेलन के वरीय उपाध्यक्ष वीरेंद्र साहू ने कहा कि ओबीसी समुदाय को संगठित होकर बड़ी लड़ाई लड़नी होगी। तभी हमलोगों को हमारा अधिकार मिल पायेगा। वरीय नेता प्रेम नाथ साहू ने कहा कि कड़े संघर्ष की आवश्यकता है। एक प्रतिनिधि मंडल बनाकर मुख्यमंत्री रघुवर दास प्रतिपक्ष के नेता से मिलकर भी दबाव बनाने की आवश्यकता है।

ओबीसी समाज के साथ हो रहा है घोर अन्याय: लक्ष्मी नारायण

राष्ट्रीय ओबीसी मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष लक्ष्मी नारायण ने कहा कि झारखंड में ओबीसी समुदाय के साथ घोर अन्याय किया जा रहा है। 5 वर्ष निकल गए ओबीसी समुदाय का वाजिब 27 प्रतिशत आरक्षण जो मंडल कमीशन के तहत प्राप्त था लागू नहीं हो पाया है। कहा कि संघर्ष ही एक मात्र रास्ता है। सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता शेखर प्रसाद गुप्ता ने कहा बीपी मंडल आयोग की अनुशंसा को पूरी तरह लागू करने के लिए समाज को कड़े संघर्ष के साथ न्यायालय के शरण में भी जाना होगा।

कई जाति समाज के लोगों ने किया संबोधित

तेली संघर्ष मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष धर्म दयाल साहू, धनेश्वर साहू, उपेंद्र नाथ पाल, अर्जक संघ के प्रदेश अध्यक्ष बीएन प्रसाद, वीरेंद्र साव, बंधु साहू, संजय महतो, छोटू महतो, प्रशांत ठाकुर, किशन कुमार, युवा नेता गुड्डू साहा, छात्र नेता उपेंद्र नाथ महतो, सुधीर राय सहित अन्य लोगों ने भी अपने अपने विचार रखते हुए विचार रखते हुए सभी को एकजूट होने का अहवान किया।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….