लंगटा बाबा इंटर काॅलेज में कार्यरत 35 प्रोफेसर को 22 माह से नहीं मिला वेतन
जमुआ झारखंड

लंगटा बाबा इंटर काॅलेज में कार्यरत 35 प्रोफेसर को 22 माह से नहीं मिला वेतन

आर्थिक तंगी से जुझ रहे है सभी व्याख्याता, आंदोलन को अग्रसर हो रहे है सभी व्याख्याता

जमुआ(गिरिडीह)। लंगटा बाबा इंटर कॉलेज मिर्जागंज में कार्यरत 35 व्याख्याताओं (प्रोफेसर) को पिछले 22 माह से वेतन नहीं मिला है, जिससे उन्हें फाकाकशी का सामना करना पड़ रहा है। पीड़ित प्राध्यापकों का कहना है कि इतने लम्बे समय से वेतन नहीं मिलने से परिवार का आर्थिक तानाबाना छिन्न-भिन्न हो गया है। पैसे के अभाव में बच्चों की पढ़ाई भी बाधित हो रही है। वहीं इतने लम्बे समय के बीच कई अहम त्योहार भी पैसे के अभाव में नहीं मनाया जा सका।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

शाशी निकाय का गठन नहीं होने से रूका है वेतन

प्राध्यापकों के मुताबिक पूर्व प्राचार्य प्रो0 प्रमोद सिन्हा पिछले 25 जनवरी को सेवा निवृत्त हुये थे। जिसके कारण शाशी निकाय स्वतः भंग हो गई थी। तब से लेकर अब तक शाशी निकाय का गठन विभिन्न कारणों से नही हो पाया। जिसके कारण प्राध्यापकों का वेतन लंबित है। उप प्राचार्य निर्मल कुमार राय ने बताया कि कॉलेज प्रबंधन की लापरवाही के कारण हमलोगों का वेतन इतने लम्बे समय से लंबित है। कहा कि अगर दस दिनों के अंदर हमलोगों का वेतन नहीं मिला तो हम सभी लोग सपरिवार कॉलेज गेट के निकट धरना प्रदर्शन करने को बाध्य होंगे।

शाशी निकाय का गठन होने के बाद ही होगा भुगतान

मौके पर व्यख्याता किशोरी राय, शिक्षक प्रतिनिधि किशोरी साहू, व्यख्याता चंद्रशेखर राय, अजय किशोर, राजेश गौतम, सुधीर शर्मा, सुमन कुमार दाराद, सतीश कुमार राय, भगवान राय, योगेश्वर साव सहित कई अन्य शामील थे। इधर प्राचार्य मो0 शमीम ने कहा कि जब तक शाशी निकाय का गठन नही हो जाता तब तक वेतन निकलना असंभव है। कहा कि जल्द से जल्द शाशी निकाय का गठन हो। जैसे शाशी निकाय का गठन हो जाएगा वैसे ही लंबित वेतन का भुगतान कर दिया जाएगा।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….