“आईना” ने किया “आज़ादी के दीवाने” नाटक का मंचन
गिरिडीह झारखंड

“आईना” ने किया “आज़ादी के दीवाने” नाटक का मंचन

गिरिडीह। रंगकर्म संस्था “आईना” के द्वारा रविवार को बड़ा चौक स्थित पुस्तकालय के समीप “आज़ादी के दीवाने” नामक नाटक का मंचन किया गया। नाटक का निर्देशन रंगकर्मी महेश”अमन” ने किया। कार्यक्रम की शुरुआत अनन्या, अमृता व आदित्य के द्वारा देशभक्ति गीत प्रस्तुत कर की गई। नाटक के माध्यम से वर्तमान युवा व गुलाम भारत के युवा की तुलनात्मक छवि को प्रस्तुत किया गया।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

वर्तमान और आजादी पूर्व भारत के युवा का किया गया चरित्र-चित्रण

नाटक के प्रथम कड़ी में वर्तमान युवाओं के चरित्र को दिखाया गया कि कैसे आज के युवा मॉब लिंचिंग, छेड़खानी व मोबाइल में व्यस्त हैं। वहीं दूसरी कड़ी में गुलाम भारत के काल के युवाओं का चरित्र चित्रं किया गया, उस वक्त के युवा कैसे वतन की आज़ादी के लिए बैचेन रहते थे और हँसते- हँसते माँ भारती के लिए मर मिटते थे।

रंगकर्म को जीवित रखना कठिन कार्य : बद्री दास

कार्यक्रम में मौजूद वरिष्ठ रंगकर्मी बद्री दास ने कहा कि आज के इस व्यस्ततम दौर में रंगकर्म को शहर में जीवित रखना कठिन है, लेकिन रंगकर्मी महेश अमन ने युवाओं को रंगकर्म के लिए प्रेरित करते हुए उनमें संवेदना का संचार कर सराहनीय कार्य कर रहे हैं।

इन्होने किया सराहनीय अभिनय

नाटक में आदित्य ने सुभाषचंद्र बोस, पुरुषोत्तम ने बटुकेश्वर दत्त, प्रगति ने झलकारी बाई, सतीश ने रामप्रसाद बिस्मिल की भूमिका निभाई। वहीं अन्य कलाकारों में विकास, तरुण, सौरव, गौरव, राहुल ने बहुत ही सराहनीय अभिनय किया।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….