फिरौती के लिए हुआ था तिसरी के खटपोंक गांव के अंकित मोदी का अपहरण

फिरौती के लिए हुआ था तिसरी के खटपोंक गांव के अंकित मोदी का अपहरण

जमुई के खैरा थाना क्षेत्र से दो अपहरणकर्ताओं को तिसरी पुलिस ने दबोचा, कई फरार

अपहरणकांड में खटपोंक गांव के रामावतार ने निभाई महत्पूर्ण भूमिका

गिरिडीह। तिसरी के खटपोंक गांव के राशन डीलर अशोक बरनवाल के बेटे अंकित बरनवाल का अपहरण फिरौती के लिए ही किया गया था। लेकिन सकुशल वापसी का खुद अंकित ने दावा किया था, कि अपहरणकर्ताओं को चकमा देकर भागने में सफल रहा। अंकित के अपहरण में गिरिडीह और जमुई के अपहरणकर्ता शामिल थे। सकुशल वापसी के तीन दिनों बाद ही इस बात का भी खुलासा हुआ है कि अंकित के अपहरण में खटपोंक गांव के रामावतार यादव के साथ जमुई के खैरा थाना क्षेत्र के अशोक मालाकार ने महत्पूर्ण भूमिका निभाई थी। तिसरी पुलिस ने खैरा थाना क्षेत्र के अशोक मालाकार और गौरेलाल को दबोचने में सफलता प्राप्त की है। पुलिस फिलहाल दोनों अपहरणकर्ताओं से सख्ती से पूछताछ कर  रही है।

तिसरी-जमुई के अपराधी थे अपहरण कांड में शामिल

पुलिस सूत्रों की मानें तो पूछताछ में दोनों ने कबूला कि अंकित का अपहरण फिरौती के लिए किया गया था। दोनों आरोपियों ने कई और नामों को कबूला है जिसमें खटपोंक गांव के ही रामावतार यादव और खैरा के सांरग गांव निवासी विकास यादव शामिल है। फिलहाल रामावतार और विकास यादव समेत अन्य आरोपी तिसरी पुलिस के गिरफ्त से बाहर है। दोनों के गिरफ्तारी के लिए तिसरी पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। पुलिस सूत्रों की मानें तो अपहरण कांड में जिस प्लसर बाईक का इस्तेमाल किया गया था। वह बाईक भी विकास यादव को रामावतार यादव ने ही उपलब्ध कराया था। लेकिन तिसरी पुलिस जब विकास यादव के घर छापेमारी की, तो ना ही विकास मिला और ना ही बाईक ही तिसरी पुलिस को मिल पाया।

बैठक में पिता के जाने के बाद अपहरण की घटना को दिया गया अंजाम

पुलिस सूत्र यह भी बता रहे है कि जिस दिन अंकित का अपहरण किया जाना था। उस रात खटपोंक गांव के मंदिर में होने वाले बैठक में आमंत्रित करने के लिए अंकित के पिता सह राशन डीलर अशोक बरनवाल को रामावतार यादव ही बुलाकर ले गया था। अंकित के पिता अशोक के बैठक में पहुंचने के बाद ही विकास यादव, गौरेलाल समेत करीब 14 नकाबपोश अपराधी राशन डीलर के घर धावा बोलते हुए, डीलर के बेटे अंकित का अपहरण कर ले गए। पुलिस सूत्रों की मानें तो रामावतार यादव के कुछ रिश्तेदार खैरा थाना क्षेत्र में रहते है। लिहाजा, रिश्तेदारों के यहां ही रामावतार यादव के छिपने की बात कही जा रही है।

अन्य अपहरणकर्ताओं की तलाश में जूटी पुलिस

पुलिस की छानबीन में यह भी सामने आया है कि विकास यादव जमुई में किसी रिश्तेदार के घर शादी में छिपकर बैठा हुआ है। संभवत, इसी शादी में रामावतार भी छिपा हुआ है। जहां नगद बंटवारे को लेकर कुछ अपहरणकर्ताओं के बीच बैठक भी होने की बात जमुई के खैरा पुलिस ने तिसरी पुलिस से साझा किया है। लिहाजा, तिसरी पुलिस अब जमुई के खैरा पुलिस के सहयोग से विकास और रामावतार यादव समेत अन्य अपहरणकर्ताओं को पैसे के साथ दबोचने के प्रयास में है। गौरतलब है कि राशन डीलर के बेटे अंकित का अपहरण दो सप्ताह पहले अपहरणकर्ताओं ने कर लिया था। करीब सात दिन गिरिडीह-जमुई के जंगल में रखने के बाद आठवें दिन अंकित सकुशल वापस घर लौटा था।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….