प्रापर्टी विवाद में हुए हत्या के बाद मृतक की पत्नी के फर्द बयान पर केस दर्ज
क्राइम गिरिडीह झारखंड टॉप-न्यूज़

प्रापर्टी विवाद में हुए हत्या के बाद मृतक की पत्नी के फर्द बयान पर केस दर्ज

मृतक के बड़े भाई समेत तीन भतीजा नामजद, भेजे गये जेल

गिरिडीह। हिंसक झड़प की घटना के दौरान शहर के कृष्णा नगर में हुए ठेकेदार अमर सिंह की हत्या के बाद शुक्रवार को हत्या के मेन आरोपी भतीजा राहुल सिंह समेत चार आरोपियों को पचंबा थाना पुलिस ने जेल भेज दिया। पुलिस ने जिन आरोपियों को जेल भेजा है उसमें मृतक के बड़े सगे भाई चन्द्रशेखर सिंह समेत उसके तीन बेटों राहुल सिंह, सौरभ सिंह उर्फ किट्टु व राजशेखर सिंह उर्फ टुटु शामिल है। जबकि हत्या के इस्तेमाल हथियार कुल्हाड़ी और तलवार को भी पुलिस ने बरामद कर लिया।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

शराब के नशे में मृतक घरवालों से करता था मारपीट

प्रापर्टी विवाद में हुए हत्या के बाद मृतक की पत्नी के फर्द बयान पर केस दर्ज

घटना के बाद दिलचस्प बात यह भी सामने आयी है कि तलवार से पहले मृतक अमर सिंह ने अपने बड़े भाई चन्द्रशेखर पर वार किया। जिसके कारण चन्द्रशेखर के हाथ में गंभीर चोट आई। वहीं साक्ष्य मिटाने के मकसद से ही मृतक की पत्नी रंजना सिंह उर्फ रजनी सिंह ने तलवार को पानी से धो दिया। वैसे हत्या की यह घटना मां-बाप के प्रोपर्टी को हथियाने के रुप में सामने आया। लेकिन हत्याकांड का दुसरा पहलू मृतक द्वारा हर रोज शराब के नशे में घर में मां-बाप और भाई समेत परिवार के सदस्यों को गाली-गलौज के रुप में भी सामने आया है।

मृतक ने अपने बड़े भाई पर किया था तलवार से वार

गुरुवार की रात 11 बजे भी यही हुआ जब मृतक शराब के नशे में घर आया और पहले पिता के कमरे में टीवी की आवाज तेज किया। जिससे पिता नाराज हो कर दुसरे कमरे में चले गए, तो मृतक ने शराब के नशे में पिता को भी पीटा। इसके बाद नशे के हालात में अपने भतीजा को बाजार में खिलाने व शराब पीलाने कहकर ले जाने लगा, तो बड़े भाई ने बेटे को बाहर जाने से मना कर दिया। इसके बाद मृतक अमर के साथ बड़े भाई की मारपीट हुई। मारपीट के क्रम में मामला इतना बढ़ा कि अमर ने तलवार से भाई के हाथ पर वार कर दिया। चाचा द्वारा तलवार का वार देखकर भतीजा राहुल सिंह भी गुस्से में कुल्हाड़ी से मृतक के गर्दन पर ताबड़तोड़ हमला करता गया। जिससे मौके पर ही अमर की मौत हो गई।

चाचा की हत्या करने के बाद राहुल ने पचंबा थाना में किया सरेंडर

चाचा की हत्या के तुंरत बाद आरोपी राहुल सिंह ने पचंबा थाना पहुंच कर खुद को संरेडर कर दिया। जबकि हत्याकांड के अन्य आरोपियों में चन्द्रशेखर अपने दोनों बेटों के साथ देर रात यात्री बस से बोकारो भागने का प्रयास किया। लेकिन जानकारी मिलते ही पीरटांड़ थाना पुलिस ने तीनों को पीरटांड़ चेकनाका के समीप दबोचने में सफल रही। पुलिस के हत्थे चढ़े आरोपियों में एक नाबालिग है। जबकि मुख्य आरोपी राहुल सिंह प्रकाशपुंज स्कूल का शिक्षक है। इधर मृतक की पत्नी रंजना सिंह के फर्द बयान के आधार पर पुलिस ने थाना कांड संख्या 108/19 दर्ज कर तमाम आरोपियों को नामजद अभियुक्त बनाकर जेल भेज दिया है।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….