डकैती व फायरिंग करने वाले गिरोह का पुलिस ने किया उद्भेदन
गिरिडीह झारखंड टॉप-न्यूज़

डकैती व फायरिंग करने वाले गिरोह का पुलिस ने किया उद्भेदन

हथियार और बाईक के साथ पुलिस के हत्थे चढ़े चार अपराधी

गिरिडीह। अन्र्तजिला गिरोह के चार अपराधियों को गिरिडीह पुलिस ने खोजी कुत्ते के सहयोग से दबोचने में सफल रही। जबकि चार अपराधी अब भी पुलिस गिरफ्त से बाहर है, जिसे गिरफ्तार करने के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। गिरफ्तार किये गये सभी अपराधी मुख्य रूप से सड़क लूट और डकैती की घटनाओं को अंजाम देते थे और बीते दिनों धनवार के प्रदीप साव के घर में इन्हीं अपराधियों ने फायरिंग की थी। गुरुवार को पुलिस लाईन में गिरिडीह एसपी सुरेन्द्र झा व एसडीपीओ राजीव कुमार ने प्रेसवार्ता कर बताया कि पुलिस के हत्थे चढ़े तीन अपराधी जहां बिरनी के अलग-अलग गांवो के है। वहीं चौथा अपराधी बोकारो के नावाडीह का रहने वाला मिथुन नायक है। चारों अपराधियों के पास से पुलिस ने दो बाईक और एक लोडेड देशी पिस्टल भी बरामद किया है।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

बिरनी थाना के रहने वाले है तीन अपराधी

गिरफ्तार अपराधियों में बिरनी थाना के रहने वाले बजरंगी दास, दिनेश पासवान और महेश दास शामिल है। बताया कि बजरंगी दास के खिलाफ पहले से डकैती का मामला बिरनी थाना कांड संख्या 919/15 दर्ज था। जबकि हजारीबाग में ही डकैती का एक ओर केस बजरंगी दास के खिलाफ थाना कांड संख्या 914/15 दर्ज है। दोनों केस में बजरंगी दास फरार चल रहा था। बताया कि मिथुन नायक के खिलाफ भीडकैती के दो केस दर्ज है। जिसमें पहला बगोदर थाना कांड संख्या 150/14 और निमियाघाट थाना कांड संख्या 27/18 दर्ज है।

घटना का खुलासा करने के लिए बनी थी दो टीम

प्रेसवार्ता के दौरान एसपी ने बताया कि धनवार के हरखी रोड निवासी प्रदीप साव के घर बीतें 25 जून को धावा बोलकर आठ अपराधियों ने डकैती की घटना को अंजाम देने के साथ ही प्रदीप साव के घर पर फायरिंग कर सभी आठ अपराधी फरार हो गए थे। भागने के क्रम में कुछ अपराधियों के चप्पल छूट गए थे। इस घटना का खुलासा करने के लिए एसपी के निर्देश पर दो टीम का गठन किया गया था। जिसमें एक टेक्नीकल टीम को शामिल किया गया था। दोनों टीम का नेत्तृव खोरीमहुआ एसडीपीओ राजीव कुमार कर रहे थे।

अपराधियों तक पहुंचने के लिए लिया कुत्तों का सहारा

बताया कि अपराधियों तक पहुंचने के लिए खोजी कुत्ते का सहयोग लिया गया था। इस दौरान पुलिस पहले बिरनी के दिनेश पासवान को दबोची। दिनेश के निशानदेही में बजरंगी दास, मिथुन नायक और महेश दास को दबोचा गया। बताया कि मिथुन नायक को प्रदीप साव के घर में डकैती की घटना को अंजाम देने के लिए गिरोह में शामिल करने के लिए कतरास के अपराधियों ने जिम्मेवारी लिया था।

पुरस्कृत होंगे पुलिस पदाधिकारी

प्रेसवार्ता के क्रम में एसपी ने बताया कि प्रदीप साव के घर डकैती की घटना का उद्भेदन करने में महत्पूर्ण भूमिका निभाने वाले खोरीमहुआ एसडीपीओ राजीव कुमार के साथ धनवार थाना प्रभारी रुपेश कुमार को पुरस्कृत करने की बात कही।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….