खाली पड़े आंगनबाड़ियों में सेविका-सहायिका चयन की प्रकिया शुरु
गिरिडीह झारखंड

खाली पड़े आंगनबाड़ियों में सेविका-सहायिका चयन की प्रकिया शुरु

चयन की प्रकिया को लेकर डीडीसी व समाज कल्याण पदाधिकारी ने की बैठक

गिरिडीह। राज्य सरकार के निर्देश पर गिरिडीह समाज कल्याण विभाग एक बार फिर आंगनबाड़ी सेविका-सहायिका बहाली की प्रकिया शुरु कर दिया है। पारदर्शिता के साथ जिलें की हर सेविका-सहायिका के चयन की प्रकिया को पूरा करने को लेकर सोमवार को जिला परिषद सभागार में डीडीसी मुकुंद दास की अध्यक्षता में पोषण सखी अभियान की बैठक हुई। बैठक में समाज कल्याण पदाधिकारी पम्मी सिन्हा के अलावे जिलें के सभी सीडीपीओ व सुपरवाईजर भी शामिल हुई।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

99 सेविका सहायिका का होना है चयन

बैठक में डीडीसी ने सीडीपीओ से कहा कि पूरे जिलें में 99 सेविका-सहायिका का चयन कर रिक्त पड़े पदों को भरा जाना है। इसके लिए चयन की प्रकिया ग्राम सभा के माध्यम से किया जाएगा। जिसकी वीडियोग्राफी भी कराई जाएगी। चयन की प्रकिया में पारदर्शिता का पूरा ध्यान रखना है। समाज कल्याण पदाधिकारी पम्मी ने यह भी कहा कि पूरे जिलें में दो हजार 431 आंगनबाड़ी केन्द्र है। जिसमें सेविका-सहायिका के चयन की प्रकिया चलती रहती है।

मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत लाभुक के खाते में जायेगा 30 हजार

बैठक में समाज कल्याण पदाधिकारी पम्मी सिन्हा ने यह भी कहा कि मुख्यमंत्री कन्यादान योजना का स्वरुप बदल चुका है। कन्यादान योजना में अब वैसे लाभुक का चयन किया जाना है। जिस परिवार के सदस्यों का नाम साल 2011 में समाजिक रुप से आर्थिक डाटा में चढ़ चुका है। समाज कल्याण पदाधिकारी पम्मी ने बताया कि हर लाभुक के खाते में सीधा 30 हजार का भुगतान किया जाएगा। लाभुकों की सूची जिलें के कुछ प्रखंडो से मिल चुका है। जबकि कुछ प्रखंडो में सूची अपडेट नहीं हो पाया है। इधर बैठक में सीडीपीओ पूर्णिमा कुमारी, माया रानी के अलावे जिला समवंयक चंदन कुमार और जिला परियोजना सहायक अनूज कुमार व कई सुपरवाईजर भी मौजूद थी।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….