डुमरी में हुई आजिविका दीदी भोजनालय की शुरूआत
झारखंड डुमरी

डुमरी में हुई आजिविका दीदी भोजनालय की शुरूआत

जेएसएलपीएस की महिलाओं ने की पहल, आर्थिक रूप आत्मनिर्भर होंगी महिलाएं

डुमरी(गिरिडीह)। जिले के डुमरी प्रखंड में जेएसएलपीएस की महिलाओं ने आजीविका दीदी भोजनालय नामक कैंटीन व्यवस्था की शुरुआत की है, जो पूरे झारखंड में महिलाओं द्वारा किया गया पहला प्रयास है। इसका मुख्य मकसद महिलाओं की आर्थिक स्थिति मे सुधार एवं  आय दोगुना करना है, ताकि महिलाएं अपने पारिवारिक पृष्ठभूमि को संभालते हुए आर्थिक क्षेत्र में भी कड़ी मेहनत कर इतिहास रच सकें।

सीधी नजर देखें सिटी केबल के 277 नम्बर और हमारे youtube चैनल पर

कुछ महिलाओं ने बीपीएम के पास जाहिर की थी इच्छा

डुमरी जेएसएलपीएस के बीपीएम सुनील कुमार राणा के अनुसार कुछ महिलाओं द्वारा यह बात उनके सामने रखी गई थी। जिसके बाद इस कार्य के लिए एसवीईपी योजना के अंतर्गत एक लाख लोन उपलब्ध कराया गया। तब जाकर आजीविका दीदी भोजनालय की शुरुआत हुई। बताया कि लगभग एक दर्जन महिलाओं ने अपने आर्थिक उन्नति को लेकर आजीविका दीदी भोजनालय की शुरुआत की है।

केरल की संस्था एसआरएलएम कुदुम श्री की रही अहम भूमिका

महिलाओं द्वारा संचालित इस भोजनालय की परिकल्पना को साकार करने में केरला की एसआरएलएम कुदुम श्री की मेंटर प्रीथा की अहम भूमिका रही। संस्थान द्वारा ही महिलाओं की ट्रेनिंग की व्यवस्था की गई थी। अब आजीविका दीदी भोजनालय की बहने इस कार्य को लेकर आगे बढ़ रही है, साथ ही बाजार में भी यहां की स्वादिष्ट भोजन की मांग बढ़ती दिख रही है।

टीम भावना से होने वाले कार्य में मिलती है सफलता: मेंटर प्रीथा

कुदुम श्री की मेंटर प्रीथा ने बताया कि महिलाओं के नए नए कार्य करने में उन्हें मजा आता है क्योंकि टीम भावनाओं से जो कार्य किया जाता है, उसमें सो प्रतिशत सफलता मिलती है। कहा कि उन्होंने महिलाओं को विभिन्न प्रकार के भोजन बनाने की ट्रेनिंग दिलाई है, जो ग्राहकों के इच्छानुसार उन्हें भोजन करा सकती है। कहा कि जब अजीविका दीदी भोजनालय की परिकल्पना यहां से साकार होगी, तो पूरेे जिले के साथ साथ पूरे राज्य में इस प्रकार की व्यवस्था शुरू की जायेगी। ताकि डुमरी के साथ ही जिले ओर राज्य की महिलायें आर्थिक रूप से उन्नत बन सकें।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज से….